एक सशक्त महिला संगठन "राष्ट्रीय निषाद एकता परिषद"

गोरखपुर से एकलव्य मानव संदेश रिपोर्टर।
आजादी के 70 साल बीत गये जिन महिलाओं ने अपने युवराज व फूलन को जन्म दिया उन्हें बचपन से आज  तक कभी मान सम्मान नहीं दिला पायी । वहीं अन्य समाज की महिलाएं भी अपने बच्चे को जन्म देती है एक वोट वो भी देती है एक वोट हमारी माँ बहने भी देती हैं, किन्तु चाहे यादव समाज हो, ब्राह्मण समाज हो यहाँ तक दलित समाज भी उनको उनके बच्चे को मान सम्मान स्वाभिमान मिल जाता है। सिर्फ इसलिए क्योंकि उन्होंने अपने बच्चों के लिए राजनीति की पाठशाला मे भाग लिया। 
     आज पहली बार निषाद समाज की माँ बहने  अपने बच्चों के मान सम्मान स्वाभिमान की लड़ाई लड़ने के लिए राष्ट्रीय निषाद एकता परिषद और निर्बल इंडियन शोषित हमारा आम दल के मध्यम से राजनीति की पाठशाला मे भाग ले रही है। मान सम्मान फ्री मे नहीं मिलता उसे बनाना पड़ता है। उसके लिए लड़ाई लड़नी पड़ती है तब जा कर उनके बच्चो के बेहतर भविष्य का निर्माण होता है।
आओ निबलों के मशीहा डॉ संजय कुमार निषाद जी के कदमों से कदम मिलाएं।