हम अपने देश को बिकने नहीं देंगे, अपने देश को लूटने नहीं देंगे

गोरखपुर, एकलव्य मानव संदेश, रिपोर्टर, 22 जून 2017। 
साथियों!! 
      ऐसे ही लगभग डेढ़ लौ साल पहले इस देश को लुटकर अंग्रेज नावों  पर बैठकर लंदन के लिए रवाना हुए थे कि, उनको नावों पर ले जा रहे समाधान और लोचन निषाद जी को इसकी भनक लग गई और उन्होनें सभी साथी नाविकों को आगाह किया की अगर यह लोग सुरक्षित लंदन पहुंच गये तो हमारा देश कंगाल हो जाएगा और गरीब शोषित समाज भूखों मरने पर मजबुर हो जाएंगे।
       अगर हम लोग इनको मार देते हैं तो हमारे देश का धन देश मे ही रहेगा और हम लोग भूखों नही मरेंगे। 
      इसका अन्जाम यह हुआ कि उन्होंने हजारों अंग्रेजों को कानपुर के सत्ती चौरा घाट पर गंगा नदी में डुबोकर, इस देश की सम्पत्ति को लूटने से बचा लिए थे।
      इस घटना से आहत होकर अंग्रेजों ने क्रूरता का अंजाम देते हुए समाधान निषाद लोचन निषाद सहित  167 निषाद नाविकों को गंगा नदी के किनारे  पीपल के पेड़ पर लटका कर 27 जून 1857 को सुबह 7:00 बजे कच्ची फांसी दे दी थी।
      अब हम लोगों की जिम्मेदारी है कि, इस देश को बिकने से बचा लिया जाए।F
       27 जून 2017 को कानपुर सती चौरा घाट पर चलकर उन महान वीर सपूतों की समाधि के सामने कसम खाना होगा कि हम अपने देश को बिकने नहीं देंगे, अपने देश को लूटने नहीं देंगे। चाहे इसके लिए हम लोगों को कुछ भी करना पड़े।
      एक ही नारा, एक ही जंग ! 
             मरते दम तक डा संजय के संग!!
जय निषाद राज.!!
महामना मा डा संजय कुमार निषाद-जिन्दाबाद!! 
निर्बल इण्डियन शोषित हमारा आम दल -जिन्दाबाद!!

आपका अपना साथी
रविंद्रमाणि निशाद
प्रान्तीय अध्यक्ष
निर्बल इंडियन शोषित हमारा आम दल
मछेन्द्र नाथ प्रान्त, उत्तर प्रदेश।

हमारे प्रयास को अपना योगदान देकर और मजबूत करें

हमरी एंड्रॉइड ऐप मुफ्त में डाउनलोड करें

हमारे चैनल की मुफ्त में सदस्यता लें

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

निषाद पार्टी न्यूज़

न्यूज़ वीडियो

निषाद इतिहास