विदेशी दौरों का परिणाम पूँछो तो पीएम भी चुप और पीएमओ भी!! व्हाट्स सोशल मीडिया पर मोदी जी के चर्चे

जब भी प्रधानमंत्री मोदी विदेश दौरों पर होते हैं,दलाली की एक मोटी किश्त तब तब कुछ समाचार चैनलों के मालिकों को भेज दी जाती है और वो देश की सारी समस्याओं को किनारे रखकर ये दिखाना शुरू कर देते हैं कि देखिए मोदी जी का विदेशों में कितना जलवा है!!
देश का कुपढ़ वर्ग मीडिया के इस झूठ को कभी नहीं पकड़ पाता कि विदेशों में जलवा मोदी का नहीं बल्कि हमारे महान भारत देश के प्रधानमंत्री का है जो पहले भी था और आगे भी रहेगा।।
मोदी की जगह आप मायावती या मुलायम को भी प्रधानमंत्री बनाकर विदेश भेजोगे तो इतना ही जलवा उनका भी रहेगा।।
स्वाधीनता के पूर्व जब गाँधी जी विदेश जाते थे गुलाम भारत के एक बड़े जननायक के तौर पर तो उनका भी जलवा होता था।
लोग धोती से लिपटे लाठी लेकर चलते एक 40-45 किलो के दुबले पतले आदमी को देखने उमड़ पड़ते थे।। देश आजाद हुआ और जब नेहरू पहले प्रधानमंत्री के तौर पर अमेरिका गए तो तत्कालीन अमरीकी राष्ट्रपति न केवल उन्हें रिसीव करने एयरपोर्ट पहुँचे बल्कि प्लेन के लैंड करते ही वो नेहरू जी के उतरने के पूर्व ही उनकी सीट तक पहुंच गए और उनका स्वागत किया।।
वो स्वागत भी नेहरू का नहीं बल्कि आजाद भारत के प्रथम प्रधानमंत्री का था।।
राजीव गाँधी को बारिश से बचाने अमरीका का राष्ट्रपति छाता पकड़े तब तक खड़ा रहा जब तक राजीव अपनी कार में बैठकर रवाना नहीं हो गए।। वो भी एक प्रधानमंत्री का सम्मान था।।
फर्क इतना था कि उस समय नेताओं को ब्रान्डिंग की आवश्यकता नहीं होती थी और प्राइवेट न्यूज़ चैनल भी नहीं थे।।
लेकिन अब भारत के प्रधानमंत्री के विदेश दौरों उसी तरह प्रचारित किये जा रहे हैं जैसे कोई कलाकार अपनी फ़िल्म का प्रमोशन कर रहा हो।।
हर दौरे के पहले दो ढ़ाई सौ लोगों की टीम का उस देश पहुँच जाना,स्थानीय उद्योगपति की मदद से वहाँ निवासरत भारतीय समुदाय को डिनर/लंच के नाम पर प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में आमंत्रित करना,लोगों से नारे लगवाना,फ़ोटो सेशन और वो सब कुछ जो शाहरुख या सलमान करते हैं अपनी पिक्चर के लिए।।
विदेशी दौरों का परिणाम पूँछो तो पीएम भी चुप और पीएमओ भी!!
समर्थक तो इसी बात पे फूल के गुब्बारा हुए जा रहें हैं कि आज साहेब अमरीकी व्हाइट हाउस में डिनर करेंगें।।
अरे कुबुद्धियो!! अमेरिका हथियारों का सबसे बड़ा व्यापारी है और भारत उसका सबसे बड़ा ग्राहक!!
अब कोई बड़ा ग्राहक दुकान पे आएगा तो उसे चाय-नाश्ता कराओगे या नहीं!!!!
मीडिया को तो मोटे पैसे मिलते हैं ये सब बोलने के किन्तु आप तो फ्री में ही......!!
है कि नई...!!!


हमारे प्रयास को अपना योगदान देकर और मजबूत करें

हमरी एंड्रॉइड ऐप मुफ्त में डाउनलोड करें

हमारे चैनल की मुफ्त में सदस्यता लें

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

निषाद पार्टी न्यूज़

न्यूज़ वीडियो

निषाद इतिहास