जागो, नहीं तो मिटा दिये जाओगे ?

अलीगढ़, एकलव्य मानव संदेश एडिटोरियल, 7 जुलाई 2017। आज देस को बेचकर बीजेपी सरकार उसी तरह खुश हो रही है, जैसे एक बाप अपनी संपत्ति को बढ़ाता रहता है और अपने नालायक बेटे को खर्च करने के लिए सोच समझकर देता है।
        लेकिन जब वह पिता एक दिन स्वर्ग सिधार जाता है, तो वो नालायक बेटा सबसे ज्यादा खुश होता है, और अब अपने पिता से विरासत में मिली सम्पत्ति को बेच बेचकर मौज उड़ाने में मदमस्त हो जाता है।
      आज सरकार निजीकरण के नाम पर सरकार देश की परिसंपत्तियों को बेचने में ज्यादा समय दे रही है, जो देस की गरीब जनता को और गरीब बनाने की सबसे बड़ी चाल है। सरकार गरीबी नहीं गरीबों को खत्म करने की योजनाओं पर कार्य कर रही है।
जगो।

हमारे प्रयास को अपना योगदान देकर और मजबूत करें

हमरी एंड्रॉइड ऐप मुफ्त में डाउनलोड करें

हमारे चैनल की मुफ्त में सदस्यता लें

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

निषाद पार्टी न्यूज़

न्यूज़ वीडियो

निषाद इतिहास