सहारनपुर में प्रदर्शन करने के बाद निषाद पार्टी ने ज्ञापन भी दिया, फूलन देवी के सहादत दिवस पर

सहारनपुर, एकलव्य मानव संदेश के लिए विनीत कश्यप की रिपोर्ट, 25 जुलाई 2017। विश्व विख्यात सबसे चर्चित महिला वीरांगना सांसद बहन फूलन देवी जी ने अपने एक वक्तव्य में कहा था कि कोई अभी माई का लाल पैदा नहीं हुआ जो सामने से वार कर दे और हुआ भी यही जिस दिन फूलन देवी जी बंगले पर रुकने वाले फूलन जी को बहन मानने वाले धूर्त मक्कार, महिलाओं की जाति के सम्मान को ठेस पहुँचाने वाले उस कायर गीदड़ सिंह राणा ने पीठ पीछे बार करके उनकी जघन्य हत्या कर दी थी। उसी दिन का वाक्या ऐसा था कि बहन फूलन देवी जी उसे छोटा भाई मानते हुये अपने हाथ से भोजन बनाकर खिलाया था। लेकिन ऐसे कई कायर गीदड़ सिंह राणा अपने देश में मौजूद हैं, जो बहन बेटियों की इज्जत-आबरू को लूटना घिनौना काम करना उनका पेशा है। ऐसे कायर गीदड़ ने जन्‍म तो एक माँ की कोख से ही लिया होगा, जिसने पूरी नारी जाति का अपमान कर दिया। जिन्दगी भर इतने भयावह, उत्पीड़न, मानवता को शर्मसार करने वाले अपमान भी सहकर बहन फूलन देवी जी ने कभी हिम्मत नहीं हारी और आज देश की किसी भी नारी जाति पर अन्याय होता है तो वो फूलन देवी जैसी वीरांगना को आज भी नहीं भूलती है। वीरंगना  बहन फूलन देवी जी इतने अत्याचारों को सहन करने के बाद भी कभी भी अपने नैतिक सुखों को वरीयता नहीं दी थी। गरीबो, मजलुमो, समाज के गन्दे चंद लोगो की बजह से उत्पीड़न की शिकार महिलाओं की हमेशा मदद की।
आज वो हम सबके बीच नहीं हैं लेकिन कोई भी इस देश का मानवतावादी विचारधाराओं में जीने वाला हर नागरिक उस नारी जाति की शक्ति के हत्यारे कायर गीदड़ सिंह राणा को कभी माफ नहीं करेगा। बीहड़ से लेकर संसद तक के सफर में वो ऐसी महिला थी जो सबसे ज्यादा देश की नारी जाति की शक्ति के लिए लोकप्रिय थी। इसमें कोई दो राय नहीं है कि ये जघन्य हत्या एक राजनैतिक षड्यंत्र के तहत हुई थी। जिसकी सांसद होने के बावजूद भी कोई सी. बी. आई.  जाँच नहीं हुई। अगर आज भी सी. बी. आई. जाँच हो जाये इस मानवता को शर्मसार करने वाले जघन्य हत्याकांड की तो कई नेताओं के चेहरे बे नकाब हो जायेंगे।
विश्व विख्यात वीरंगना सांसद महिला फूलन देवी जी को शत् शत् नमन।
विनीत कश्यप निषाद
युवा मोर्चा जिलाअध्यक्ष
सहारनपुर
निषाद पार्टी