अस्पताल में मरीज को इलाज की जगह मिली मौत, और परिवार को पिटाई के बाद जेल

गोरखपुर, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्टर, 26 जुलाई 2017। गोरखपुर में छात्र की मौत, निषाद पीड़िता का परिवार जेल भेजा। संवेदनशीलता की सारी हदे पार, डाॅक्टर ने इलाज नही किय। आज निषाद पीड़िता के घर पहुँच कर LIU अधिकारी को बुला कर जल्द से जल्द LIU से न्याय दिलाने का आश्वासन ई श्रवण कुमार निषाद युवा मोर्चा प्रदेश प्रभारी ने दिया।
घटना- 25 जुलाई शाम की है। निषाद समाज का छात्र स्कूल का ड्रेस लेकर घर वापस आते समय एक दुर्घटना में घायल हो जाने के वज़ह से अस्पताल के सामने लगभग एक घंटा तक अपने होशो हवास मे पड़ा रहा। लड़के के परिवार व सड़क के कुछ लोग भर्ती की गुहार लगा रहे थे किन्तु अस्पताल के डाॅक्टरो ने ना उसे देखा और ना ही भर्ती किया । अंत मे तड़प तड़प कर डाक्टरो की लापरवाही से उसकी मृत्यु हो गई । वही प्रशासन ने डाॅक्टर को बचाने हेतुु उल्टा मुकदमा पीड़ितों के परिवार पर लगा कर जेल भेज दिया।