फेसबुक पर 100000 व्यू के साथ 350 गुना महत्व दिया एकलव्य मानव संदेश के मित्रों ने

एकलव्य मानव संदेश ब्यूरो, अलीगढ़, 17 अगस्त 2017। सोशल मीडिया फेसबुक पर एकलव्य मानव संदेश ने अपनी एक महत्वपूर्ण पहचान बनाई है। आज एकलव्य मानव संदेश हिंदी साप्ताहिक समाचार पत्र और ऑनलाईन न्यूज चैनल को भारत और भारत से बाहर 50 से ज्यादा देशों में पसंद किया जा रहा है। एकलव्य मानव संदेश हमेशा (1996 से प्रकाशित RNI रजिस्टर्ड साप्ताहिक समाचार पत्र) शोषितों और बंचितों को पाखंडवाद और शोषण के खिलाफ जागरूक करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता रहा है। औऱ आगे भी पीछे नहीं रहेगा। जय निषाद राज

हमारे प्रयास को अपना योगदान देकर और मजबूत करें

हमरी एंड्रॉइड ऐप मुफ्त में डाउनलोड करें

हमारे चैनल की मुफ्त में सदस्यता लें

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

निषाद पार्टी न्यूज़

न्यूज़ वीडियो

निषाद इतिहास