निषाद पार्टी ने गोरखपुर में मृत बच्चों की आत्मा की शांति कैंडिल जलाकर 2 मिनट का मौन रखा

गोरखपुर, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्टर, 12 अगस्त 2017। गोरखपुर का सरकारी अस्पताल मासूम बच्चों के लिए कब्रिस्तान बन गया। सरकार और शासन प्रशासन की लापरवाही ने कई बच्चों को मौत की नींद सुला दिया। एक-एक कर 33 मासूमों ने अस्पताल के अंदर दम तोड़ दिया। इस घटना को जानने और समझने गए योगी सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह और आशुतोष टंडन ने आकड़े पेश कर घटना पर लीपा-पोती शुरू कर दी।
      भाजपा सरकार का जबसे गठन हुआ है और योगी जी मुख्यमंत्री बने हैं, तबसे यह सरकार हर मौके पर विफल रही है।
    निषाद पार्टी ने इस घटना की पुरजोर निंदा करते हुए पीड़ित परिवार की 25-25 लाख मुआवजा और दोषियों पर कड़ी से कड़ी सजा मांग की है। निषाद पार्टी के कार्यकताओ के साथ रानी लक्ष्मीबाई पार्क गोरखपुर में कैंडल जलाकर दिवंगत नवजात बच्चों की आत्मा की शांति के लिए 2 मिनट का मौन रखा गया।

हमारे प्रयास को अपना योगदान देकर और मजबूत करें

हमरी एंड्रॉइड ऐप मुफ्त में डाउनलोड करें

हमारे चैनल की मुफ्त में सदस्यता लें

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

निषाद पार्टी न्यूज़

न्यूज़ वीडियो

निषाद इतिहास