हमीरपुर में गुरु ने जन्माष्टमी की रात अपने चेले की नर बलि दी

हमीरपुर, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्टर रामभुवन कश्यप की रिपोर्ट, 18 अगस्त 2017। अपने आपको भगवान कहने वाले गुरु ने अपने शिष्य की गला रेतकर हत्या करके फरार हो गया। सिद्धि प्राप्त करने के चक्कर में गुरु ने की शिष्य यह निर्मम हत्या की।
मामला हमीरपुर जनपद के थाना सुमेरपुर अंतर्गत ग्राम बांक का है जंहा पर गुरु सतगुरु उर्फ़ सुन्दर कुशवाहा पुत्र रामप्रसाद अपने आपको ईश्वर का रूप तथा अपने आपको ईश्वरीय शक्ति प्राप्त बताता है। उक्त गुरु ने अपने शिष्य स्वहांग देव प्रजापति लगभग 45 वर्षीय निवासी पत्योंरा की 15 अगस्त एवं जन्माष्टमी की रात्रि में पुनर्जन्म की खातिर निर्ममता पूर्वक गाला रेतकर हत्या कर नर बलि दी। एवं हत्या करने के पश्चात् शव को अपने मकान से कुछ दूरी पर बगीचे में फेककर परिवार सहित फरार हो गया। उक्त घटना की जानकारी सर्वप्रथम ग्राम निवासी अखिलेश पुत्र सुल्तान ने ग्राम प्रधान को दी। ग्राम प्रधान ने पूरे मामले को पुलिस प्रशाशन को सूचित किया। पुलिस ने मौके पर पहुँच कर शव को कब्जे में लेकर फोरेंसिक टीम को सूचना दी ।पुलिस ने शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेजा ।