डॉ संजय कुमार निषाद ने अपने मंच पर सभी को मौका दिया, लेकिन, सपा, बासपा और भाजपा के दलाल नेता और कार्यकर्ताओं ने बदले में केवल धोका ही दिया

अलीगढ़, एकलव्य मानव संदेश एडिटोरियल, 15 अगस्त 2017। निर्बलों शोषितों के मशीहा महामना डॉ संजय कुमार निषाद ने पहले ही दिन से लेकर आज तक हमेशा, निषाद वंश की सभी जातियों के पुराने, अन्य पार्टियों और संगठनों में कार्य करने वाले नेताओं को अपने मंच पर हर बार मौका दिया। चाहे कोई भी आज कुछ भी कहे। लेकिन जो भी नेता डॉ संजय कुमार निषाद जी को छोड़ कर गया, उसका एक ही कारण था कि सपा, बसपा और भाजपा से दलाली करके अपना भला करना।
क्योंकि सपा, बसपा, कांग्रेस और बीजेपी अपनी अपनी सरकार कई कई बार बना चुके हैं और निर्बलों और शोषितों की स्थिति आज भी दयनीय बानी हुई है। लेकिन ये दलाल और धोखे बाज आज भी अपने अपने मजे के लिए इन पार्टियों को लाभ पहुंचाने के लिए, निषाद पार्टी में घुसकर और उसके बाद पार्टी को कमजोर करने की नीयत से, बाहर जाकर अनर्गल प्रलाप करके, सपा, बसपा, भाजपा और कांग्रेस से भी ज्यादा नुकसान पहुंचाने की कोशिश में लगे रहते हैं। इन दलालो का कोई ऐसा एजेंडा नहीं है, जो निर्बलों, शोषितों, को मजबूत बनाने के लिए हो। आज उतर प्रदेश में बीजेपी की सरकार ने निषाद वंशीयो के, बालू खनन के अधिकार, मत्स्य पालन के अधिकार, मछुआ आवासों की धन राशि घटना, सब निर्बलों को और कमजोर करने वाले कार्य किये जा रहे हैं और ये मूर्ख अपनी जीभ के स्वाद में खिलाफत करने की जगह, बीजेपी को और लाभ पहुंचाने के लिये पूरे जतन किये हुए हैं। कुछ सपा के एजेंटों ने तो निषाद पार्टी को बदमान करने के लिए, चुनाब के समय टिकिट के गलत बटवारे के लिए पूरा जोर लगाया और पार्टी को कई सीटों पर सीधा नुकसान पहुचने में कोइ कसर नहीं छोड़ी।
डॉ संजय कुमार निषाद एक दिव्यदर्शी व्यक्ति हैं और निषाद वन्स में जन्मे पहले नेता हैं, जिन्होंने हज़ारों की संख्या में कुशल वक्ता बनाकर आज सपा, बसपा, बीजेपी, कांग्रेस में दहशत पैदा कर दी है। अब ये पार्टियां सीधे डॉ संजय से भिड़ने की स्थिति में नहीं हैं, लेकिन निषाद वन्स के ही दलाल, जो नेता की जगह खाओ कमाओ की हरकतों से भरे हुए हैं, इन पार्टियों से पैसे लेकर, निषाद वन्स के गरबों को भड़काने और निषाद पार्टी को कमजोर करने के लिए तरह तरह से प्रलाप करते रहते हैं।
लेकिन आज निषाद पार्टी इन मक्कारों की हरकतों और बेईमान पार्टीयों की चालों से मुकाबला अपने मजबूत कैडर बेस्ड संगठन के माध्यम से बखूबी करते हुए उत्तर प्रदेश के बाहर भी अन्य राज्यों में पैठ बनाने में कामयाब हो रही है। और 2019 में एक मजबूत विकल्प के रूप में भारत की राजनीति में चमकेगी ।
जो भी निषाद वन्स का हित चाहने वाले, कमजोरों और शोषितों का भला चाहने वाले हैं, उनसे अग्रह है कि अपनी नहीं देश की सोचो, निर्बलों को और शोषण से बचाने के लिए निषाद पार्टी का साथ दो, आपका, हमारा गरीब समाज, हम सभी के एकजुटता के प्रयास से जल्दी से आगे बढ़कर तरक्की कर सकता है। बुराई नहीं, डॉ संजय कुमार के कुशल नेतृत्व की अगुआई में आओ हम सभी निर्बलों को अधिकार दिलाने के लिए अपने अहम का त्याग कर, भारत को फिर से सोने की चिड़िया बनाएं।
जय निषाद राज।
आपका अपना साथी
जसवन्त सिंह निषाद

हमारे प्रयास को अपना योगदान देकर और मजबूत करें

हमरी एंड्रॉइड ऐप मुफ्त में डाउनलोड करें

हमारे चैनल की मुफ्त में सदस्यता लें

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

निषाद पार्टी न्यूज़

न्यूज़ वीडियो

निषाद इतिहास