मूलनिवासी दिवस मनाया गया

सीतापुर, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्टर, 10 अगस्त 2017। मूलनिवासियों को जागरुक बनने पर दिया गया बल। जिस देश के मूलनिवासी जागरुक नहीं होते है उस देश की अधिकांश सत्ता व ब्यवस्था पर अप्रत्यक्ष रूप से विदेशियों का कब्जा हो जाता है इसलिए भारतवर्ष के मूलनिवासियों तुम्हें जागरुक होना होगा और अपने देश को विकास की ऊचाईंयों पर ले जाना होगा l
       यह बात विश्व मूलनिवासी दिवस के मौके पर क्षेत्र के मंझारी में मिशन महापुरुष मूवमेन्ट मंच के आवाह्न पर आयोजित एक विचार गोष्ठी में बतौर अतिथि सामाजिक कार्यकर्ता राजेश कश्यप ने कही l उन्होंने आगे कहा कि यदि किसी देश में विदेशी रहते है तो उन विदेशियों का पहला फर्ज बनता है कि मूलनिवासियों का आदर करें और मूलनिवासियों को नीच बनाने वाले कामों से बचे नहीं तो विदेशियों के खिलाफ आन्दोलन होते हैं l विश्व मूलनिवासी दिवस 9 अगस्त को संयुक्त राष्ट्र संघ ने मूलनिवासियों के सम्मान में विश्व फलक पर मनाने का सरकारों से आग्रह किया है लेकिन दुनिया के कुछ देश इसे लागू नहीं कर रहे है l उन्होंने आगे यह भी कहा कि मूलनिवासी दिवस को मूलनिवासी क्रान्ति दिवस के रूप में मनाने की हम सब परिपाटी डाल रहे है ताकि मूलनिवासी जाग्रत हो सके और असली राष्ट्रवाद को जान सके l
     इस मौके पर हरिद्वारी यादव , श्रीराम राजपूत , सोनी विश्वकर्मा, विजय राज, केडी सिंह, रामनरेश, रामप्रताप, अनिल, सरवन सहित अन्य लोग मौजूद रहे l

हमारे प्रयास को अपना योगदान देकर और मजबूत करें

हमरी एंड्रॉइड ऐप मुफ्त में डाउनलोड करें

हमारे चैनल की मुफ्त में सदस्यता लें

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

निषाद पार्टी न्यूज़

न्यूज़ वीडियो

निषाद इतिहास