गोरखपुर शहर को बचाने के चक्कर में गांव बहा दिये गए ?

गोरखपुर, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्टर, 21 अगस्त 2017। साथियों । एक शहर को बचाने के चक्कर में कई गाँव बहवा दिये जा रहा है। यदि सरकार चाहती तो जैसे शहर के बांध पक्के किये गये हैं, वैसे ही गाँव के भी पक्के करवा सकती है, किन्तु पक्के की बात तो दूर 20 -20 साल तक मरम्मत नहीं हो पा रहा है। अब याद रखो गरीब शोषित वर्ग के लोगो, कोई नेता तुम्हारे काम नहीं आयेगा, कोई पार्टी तुम्हारे काम नहीं आयेगी, आप को अपने भविष्य के लिए खुद लड़ना होगा। जो दर्दनाक मंजर आप झेल रहे हो, कहीं आपका बच्चा ना झेले, उसके लिए संघर्ष करो। अपने लिए व आने वाली पीढ़ी के लिए बेहतर भविष्य का निर्माण करें। निर्बल इण्डियन शोषित हमारा आम दल पार्टी आप के लिए हमेशा खड़ी रहेगी ।
इंजी. सरवन निषाद
प्रदेश प्रभारी
इंडियन शोषित हमारा आम दल(निषाद पार्टी)