अत्याचार करने वाले से बड़ा दोषी अत्यचार सहने वाला होता है

अलीगढ़, एकलव्य मानव संदेश ब्यूरो, 10 अगस्त 2017। एक निर्धन परिवार में जन्मी, बचपन से ही अत्यचारों से टकराने वाली, दुनिया की चौथे नम्बर की महान क्रांतिकारी महिला फूलन देवी जी के जन्मदिन की एकलव्य मानव संदेश की हार्दिक शुभकामनाएं।
एकलव्य मानव संदेश साप्ताहिक समाचार पत्र का प्रकाशन फूलन देवी जी की प्रेरणा से 28 जुलाई 1996 को अलीगढ़ के कुआरसी ग्राम से चौधरी हरफूलसिंह कश्यप जी के कर कमलों द्वारा किया गया था।
फूलन देवी जी ने अत्यचार्यो का हमेशा डट कर मुकाबला किया था। उनका मानना था कि अत्याचार करने वाले से बड़ा दोषी अत्यचार सहने वाला होता है। लेकिन उनकी संम्पत्ति के हड़पने के लिए रिश्ता बनाने वालों ने आज तक उनकी हत्या की सीबीआई जांच के लिये आज तक कोई आंदोलन नहीं कर सके हैं। आज वह माँ जिसने इस क्रांति करी महिला को जन्म दिया था, बहुत ही दयनीय स्थिति में जीवन जी रही है। कोई अपने को दत्तक पुत्र कहता है तो कोई और कुछ, केवल समाज को मूर्ख बनाने के लिए, ये कायर लोग फूलन देवी के नाम का इस्तेमाल करने में होड़ मचाये हुए हैं और उनकी आत्मा को ठेस पहुंचाने में लगे हुए हैं। समाज को इन ढोंगियों से सावधान रहने की जरूरत है।
राष्ट्रीय निषाद एकता परिषद और निषाद पार्टी ने फूलन देवी जी की माता जी के खर्चों के लिए पिछले 1 वर्ष से ज्यादा समय से अपनी जिम्मेदारी ले रखी है और समय समय पर आर्थिक सहायता, राष्ट्रीय अध्यक्ष महामना डॉ संजय कुमार निषाद जी के निर्देश पर उनके घर जाकर पदाधिकारियों द्वारा पहुचाई जाती रहती है।