निषाद पार्टी को पूरे मध्यप्रदेश में लाएं औए एक नई क्रांति की आगाज करें

रीवा(मध्यप्रदेश), एकलव्य मानव संदेश के लिये पवन वर्मा का लेख, 15 सितम्बर 2017। मध्यप्रदेश में माझी की समस्या आज लगभग कई वर्षों से अनवरत चली आ रही है। लेकिन  माझी समाज के कुछ सत्ता की  लालसा मे लुफ्त वरिष्ठ लोग एवं माझी समाज की  आड़ मे राजनीति खेलकर माझी समाज को गर्त में पहुचाने वाले आज भी उसी फिराक में हैं।
एक बात अभी तक अज्ञात है, ये लुटेरी पार्टियों के नेता और समाज के तथाकथित दिखावटी समाज उद्धारक आज तक समाज के लिए कौन कौन सी कल्याणकारी योजनाएं लाएं हैं अभी तक अज्ञात है। आज भी हमारा  समाज भारत के सबसे निचले जातियों से भी नीचे गिर चुका है।
इनका भी दोस नहीं है क्योंकि जिस पार्टी की चाटुकारिता ये लोग करते हैं, उसी पार्टी का गुणगान भी  करेंगे अन्यथा पार्टी के खिलाफ जा कर यदि माझी समाज की  मुद्दे को रखते हैं तो पार्टी इनको पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा देगी। इसीलिए ये लोग आज भी  समाज को गुमराह करने के लिए मछुआ प्रकोष्ठ का लॉलीपॉप दिखाकर समाज को आज भी नरक में ले जाने का जाल बिछा रहे हैं। और यही सारे मुख्य कारण हैं जिनकी बजह से आज तक माझी  समाज का मुद्दा हल नहीं हो पाया है। सत्ता में पहले कई साल तक कांग्रेस रही है लेकिन दुर्भाग्य की बात है कि आज हमारे हमारे समाज के वही कांग्रेसी वरिष्ठ लोग अपने स्वार्थ की रोटी सेंक कर, माझी समाज का धड़ल्ले के साथ इस्तेम्माल  किया और गर्त में ले जाकर छोड़ दिया। क्योंकि राजनीति की बजह से ही माझी का मामला आज तक अटका हुआ है यदि ये समाज के कंग्रेसी  और बीजेपी के नेता अगर माझी की बात को संसद मे रखते हैं तो ST के विधायक धमकी देते हैं अगर माझी समाज की  समस्या को हल किया तो पूरे मध्यप्रदेश से ST के विधायक पार्टी छोड़कर दूसरे पार्टी में जाने की धमकी देते हैं यही हाल आज बीजेपी का है। बीजेपी के  शासनकाल हमारे माझी और मूलनिवासियों के अधिकारो को ही खत्म किया जा रहा है।  हमारे समाज का आज तक इन दोनों पार्टियों ने बहुत ही बुरे तरीके से इस्तेम्माल किया और फेंक दिया लड़ने मरने के लिए।आज हमारा समाज रोड पर आ गया, आंदोलन कर रहा है,फड़फड़ा रहा है,लेकिन कोई भी सुनने वाला नही है। जितने भी कांग्रेस एवं बीजेपी के माझी समाज के लोग हैं ।
अगर मध्य प्रदेश में यह माझी  समाज के मुद्दे को उठाएंगे इन को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया जाएगा। इसी डर की वजह से ये सत्ता के लालची नेता,समाज के ठेकेदार अपनी बातों को पार्टी के सामने कभी नही रखते।।
अगर माझी समाज के मुद्दे को हल करना है और अपने अधिकारो को वापिस लेना है तो मध्य प्रदेश में अपने समाज की पार्टी को लाना होगा, अपने निषादवंश को जीवित करना होगा, निषादवंश के इस देश मे पुनः से निषादों का राज लाना होगा, तभी समाज के हर तबके के व्यक्ति अपने समाज के गौरव को वापस लाने के लिए जी जान से जुट जाएगा और निषाद राज वापिस आएगा।
लेकिन सबसे पहले दिक्कत अपने समाज के  इन्ही ठेकेदारों बीजेपी ,कांग्रेसियों को होगी क्योंकि मानसिक और सामाजिक समस्या से उबरने की इनको कोई लेना देना नही है।तो ये लोग कभी हमारी समस्याओं को हल नहीं कर सकेंगे और  न ही कभी कर पाएंगे चाहे ये लोग बीजेपी मे हों या कांग्रेस मे।
अब एक ही रास्ता बचता है कि पूरे मध्यप्रदेश में अपने समाज की पार्टी एबं आधुनिक विचारधारा एबं समाज की गौरव को बढ़ाने वाली निषाद पार्टी को लाया जाए जिससे बीजेपी एवं कांग्रेस पार्टी एवं इन लुटेरी पार्टियों के आड़ में जो हमारे समाज के लालची एबं लाचारी नेता जुड़े हैं उनकी नींद जरूर खुल जाएगी।
निषाद पार्टी को अपने राज्य में आते ही समाज खिल उठेगा और अपने समाज और वंस का इतिहास पढ़ेगा, समाज को उसका हक मिलेगा। समाज सर उठाकर जीना और चलना सीख जाएगा। इससे बीजेपी और कांग्रेस में खलबली जरूर  मच जाएगी क्योंकि हमारे सामज की गौरव निषाद पार्टी को पूरे मध्य प्रदेश के 51 जिलों में एक साथ जल्द ही एक विशाल आंदोलन किया जाएगा और अपने समाज को जगाया जाएगा और बाकी की लुटेरी पार्टियों के होश उड़ाया जाएगा। मेरे सभी प्यारे एबं संम्मानीय सामाजिक बन्धुयों हम सबको बढ़चढ़ कर समाज उत्थान और समाज के गौरव के लिए हिस्सा लेना है और कसम खाना है कि जिस तरह बसपा के लोग कसम खाते हैं कि वोट पड़ेगा तो हाथी में उसी तरह हम सभी निषाद वंस के हर व्यक्ति को भी कसम खाना है कि हम आज से सिर्फ निषाद पार्टी, यानी निषाद वंश को ही आगे  लाना है और अपने अधिकार छीन कर लेना है। जिस दिन हमारे लोगों ने कसम खा ली और ऐसा करने के लिए अपने आपको वचनबद्ध कर लिया, उस दिन जरुर सुनहरे अक्षरों में इतिहास लिखा जाएगा। यदि आप सब अपने समाज का एबं अपने वंश को ऊपर लाना चाहते हैं एवं अपने समाज का हित चाहते हैं तो समाज के सभी वरिष्ठ नागरिक माता, भाईओं एवं बहनो एवं समस्त सामाजिक बन्धुयों का आह्वान  करता हूं कि
अब समय नही बचा है, अब आप सभी की जिम्मेदारी है कि आप सभी समाज के गौरव को वापिस लाने के लिए हम सभी को एकता दिखाने की जरूरत है। यदि अपनी आने वाली पीढ़ी को उसका इतिहास और गौरव बता कर दुनिया अपने वंस और समाज का पताका लाहरवाना चाहते हैं तो तो आइए हम सब मिलकर निषाद वंश की गौरव और निषादवंश कि पहचान को  इतिहास की पन्नो से उकेर कर समाज के अंतिम व्यक्ति तक समाज हित करने वाली अपने समाज की हितैसी पार्टी, निषाद पार्टी को पूरे मध्यप्रदेश में लाएं औए एक नई क्रांति की आगाज करें।