फूलन देवी के हत्यारे के साथ मुख्यमंत्री योगी के काफिले पर निषाद पार्टी के कार्यकर्ताओं ने बरसाये टमाटर और सड़े अंडे, दो कार्यकर्ता गिरफ्तार

इलाहाबाद, एकलव्य मानव संदेश के लिये डीएस बिन्द की रिपोर्ट, 6 सितंबर 2017। निषादराज की पवित्र भूमि पर फूलन देवी के हत्यारे शेर सिंह राणा और मुख्यमंत्री योगी की गाड़ियों पर चढकर N.I.S.H.A.D पार्टी के कार्यकर्ताओ ने दिखाये काले झंडे और सड़े टमाटर व अंडों की बरसात।
आज इलाहाबाद के परेड ग्राउंड में पूर्व सांसद वीरांगना फूलन देवी के हत्यारे शेर सिंह राणा का अभिनंदन कार्यक्रम किया गया था, जिसमें उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी भी शामिल हुए। कार्यक्रम के बाद जब मुख्यमंत्री शेर सिंह राणा को साथ लेकर वापिस हेलीकॉप्टर में बैठने के लिए लौट रहे थे तो अपने साथ फूलन देवी के हत्यारे शेर सिंह राणा को भी साथ गाड़ियों के काफिले के साथ जा रहे थे तभी निषाद पार्टी के कार्यकर्ताओं ने काले झंडे दिखाए और मुख्यमंत्री की गाड़ी पर चढ़कर सड़े अंडे और टमाटर फैंके।
एक तरफ देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब इलहाबाद आये थे तो बार बार निषाद राज की धरती को नमन किया था। और दूसरी और उन्हीं की पार्टी के मुख्यमंत्री ने उसकी पवित्र धरती को कलंकित करने काम किया है। आज फूलन देवी के हत्यारे और सजायाफ्ता का अभिनंदन करके उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्य नाथ ने सावित कर दिया है कि वह साधु और मुख्यमंत्री से पहले अपनी जाति के सिपाही हैं और निषाद वंस की अहमियत उनके लिए कुछ भी नहीं है।
आपको याद होगा जब फूलन देवी की हत्या की गई थी तब केंद्र में बीजेपी की अटलबिहारी के नेतृत्व वाली सरकार थी और एक सांसद की हत्या संसद के सत्र के चलते समय, भोजनावकाश में अपने निवास पर लौटने के बाद कर से उतरते समय शेर सिंह राणा ने 25 जुलाई को की थी।
फूलन देवी निषाद वंशीय लोगों के साथ शोषित पीड़ितों की मशीहा मानी जाती थीं।
    प्रदर्शन करने वाले प्रमुख कार्यकर्ता थे, नन्हासेठ, राम टहल निषाद, राजेन्द्र निषाद, बनारसी लाल निषाद, शेखर निषाद, राधारानी निषाद, गुड्डू निषाद व सुरेश चन्द्र निषाद।
प्रदर्शन करने वाले कार्यारकर्ताओं में से 2 कार्यकर्ता गुड्डू निषाद और सुरेश चंद्र निषाद को मुख्य मंत्री के कमांडो ने पकड़ कर गिरफ्तार कर लिया है।