गोरखपुर में निषाद आरक्षण आंदोलन में सैकड़ों कार्यकर्ता और पदाधिकारी गिरफ्तार।

गोरखपुर, एकलव्य मानव सन्देश ब्यूरो रिपोर्ट, 9 सितंबर 2017। आज गोरखपुर में होने वाले निषाद वंशीय जतियों के आरक्षण के आंदोलन को कुचलने के लिए पुलिस प्रशासन ने शासन के इशारे पर पूरी तैयारी की थी। निषाद पार्टी के राष्ट्रीय संरक्षक और उनके पोते जिलापंचायत सदस्य आशीष मझवार को चोरों की तरह 10 से 12 पुलिस वालों ने सीड़ी लगाकर छत पर रात में 1 बजे सोते समय गिरफ्तार किया था।  इसके साथ महिलाओं के साथ बत्तमीजी की भी खबरें हैं।
राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ संजय कुमार निषाद के घर और कार्यालय पर भी रात को पुलिस ने छापा मारा।
रेलों को लेट किया गया।
दिन में गोरखपुर के चप्पे चप्पे पर पुलिस लागी हुई थी। रेलवे स्टेशन और रेल रोकने वाली जगह जिलाधिकारी और एसएसपी सहित पूरा प्रशासन लगा हुआ था। आज सीएम योगी का गोरखपुर में गोरखनाथ मंदिर में कार्यक्रम था। निषाद पार्टी के आरक्षण पर योगी आदित्यनाथ से मिलना चाहते थे। पर प्रशासन ने इसकी इजाजत नहीं दी और सभी को गिरफ्तार कर पुलिस लाईन ले जाया गया।
पुलिस ने प्रदेश अध्यक्ष रविंद्रमाणि निषाद और प्रदेश प्रभारी इंजी. सरवन निषाद को जबरदस्ती खीचकर जीप में डाल लिया और दोनों को अलग थाने ले जाया गया।
एक महिला कार्यकर्ता की हालत गंभीर हो गई लेकिन पुलिस ने कोई इलाज की व्यवस्था नहीं कि और न ही किसी गिरफ्तार आन्दोलनकारी को खाने पीने की व्यवस्था की।
अभी किसी कार्यकर्ता को रिहा नहीं किया गया है। निषाद पार्टी ने पूरे प्रदेश में योगी सरकार के खिलाफ आन्दोलन करने की चेतावनी दी है

हमारे प्रयास को अपना योगदान देकर और मजबूत करें

हमरी एंड्रॉइड ऐप मुफ्त में डाउनलोड करें

हमारे चैनल की मुफ्त में सदस्यता लें

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

निषाद पार्टी न्यूज़

न्यूज़ वीडियो

निषाद इतिहास