फ़र्ज़ी आईडी और समाज को गुमराह करने वाले समाज की सबसे बड़े दुश्मन हैं

महाराष्ट्र से एकलव्य मानव संदेश के लिए प्रदीप कुमार निषाद कि रिपोर्ट 30-10-17। आज सोशल मीडिया के जरिए कुछ लोग फेसबुक तथा ह्वाटसेप पर फर्जी नाम पता डालकर निषाद वंश को गुमराह कर रहे हैं, क्योंकि आज महामना डॉक्टर संजय कुमार निषाद के नेतृत्व में जो कारवां खड़ा हुआ है, शायद इतना बड़ा जनसमूह एक साथ नहीं था। आज निषाद वंश को एक मंच पर होते देख सभी राजनीतिक पार्टियां अपने पालतू तीतरो को बहकाने के लिए और हमें गुमराह करने के लिए मैसेज डाल रहे हैं, कोई मल्लाह के नाम से, कोई बिंद के नाम से, निषाद के नाम से, संघ बनाकर हमें गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं।
फ़र्ज़ी आईडी और समाज को गुमराह करने वाले समाज की सबसे बड़े दुश्मन हैं। लेकिन राष्ट्रीय निषाद एकता परिषद के सिपाही उन के मंसूबों को कामयाब नहीं होने देंगे। मुंबई की इस बैठक में अल्हा निषाद, प्रदीप कुमार निषाद, शुषमा निषाद, केशव सहानी, गार्गी नारायणन तथा अन्य साथी उपस्थित थे