हत्या के खुलासे के साथ दो अभियुक्त गिरफ्तार

सिद्धार्थनगर, एकलव्य मानव संदेश के लिये प्रदीप सहानी की रिपोर्ट, 16 अक्टूबर 2017। सिद्धार्थनगर  जिले के शोहरतगढ़ तहसील क्षेत्र के बनरही गांव के एक युवक की प्रधानी चुनाव की रंजिश को लेकर लगभग साढ़े चाह पूर्व हत्या कर दी गई थी। जब किसी की हत्या होती है, अपराधी कितना भी शातिर क्यों न हो कानून के हाथों पकड़ा ही जाता है। क्योंकि घटना को अंजाम देते समय कहीं न कहीं, कुछ न कुछ सबूत और साक्ष्य छोड़ जाता है और पुलिस उन्ही सबूतों को कड़ी से कड़ी मिलाकर हवालात जाने का रास्ता बना देती है। मामला शोहरतगढ़ थाना क्षेत्र के बनरही से जुड़ी हत्याकाण्ड का है। जानकारी के मुताबिक शोहरतगढ़ थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत बनरही में बीते दिनाँक 28-29 मई 2017 की रात एक व्यक्ति की हत्या कर दी गयी थी। तथा एक व्यक्ति बच गया था, जो स्वयं में गवाह हो गया। पुलिस के मुताबिक जब सभी सबूतों और गवाहों को एक एक करके जोड़ा गया तो शोहरतगढ़ के तेज तर्रार आफिसर इन्सपेक्टर शमशेरबहादुर सिंह की मेहनत रंग लाई, जिससे कहानी साफ हो गयी और प्रकरण का खुलाशा हो गया। पुलिस के मुताबिक प्रधानी रंजिश और मृतक के जमीन हड़पने के चलते बनरही निवासी इशहाक को मार दिया गया और रमजान बच गया, शिकायतकर्ता की माने तो घायल रमजान का काफी दिनों तक इलाज भी चला ।इंन्सपेक्टर शमशेर बहादुर सिंह ने बताया कि गिरफ्तारी के लिए हम बनरही जा रहे कि रास्ते में परसा क्रासिंग के पास दोनो अभियुक्त दिखे, पुलिस की गाड़ी देखते ही भागने का प्रयास किया, किन्तु हमराहियों ने उन्हे पकड़ लिया। पकड़े गये अभियुक्त का नाम शिवप्रसन्न यादव पूर्व प्रधान बनरही, हरिनरायन यादव पुत्रगण संतराम यादव है। जिन्हे मुकदमा अपराध संख्या 1098/17 अन्र्तगत धारा 307, 302 के तहत जेल भेज दिया गया। पूर्व प्रधान व प्रधानप्रतिनिधि की गिरफ्तारी को लेकर क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है।विदित हो कि शिवप्रसन्न यादव पूर्व प्रधान बनरही तथा हरिनरायन यादव पुत्रगण संतराम यादव है । उक्त के दौरान इन्सपेक्टर शमशेर बहादुर सिंह, एस. आई. सुनीलदत्त सरोज, कॉन्स्टेबल सुनील कुमार मिश्र, रमाशंकर यादव आदि मौजूद रहें।