बीजेपी को देश के युवाओं से नफरत है, इसलिए निकाय चुनावों में इसे सबक सिखाना चाहिए

पिनाहट, आगरा, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्टर सन्दीप वर्मा की रिपोर्ट, 28 अक्टूबर 2017। आगरा जनपद की बाह तहसील के पिनाहट ब्लॉक के रहने वाले नंद किशोर, जो शिक्षा मित्र की नौकरी में वापिस लौटाए गए हैं उनका आगामी नगर निकाय चुनावों में लोगों से कहना है, साथयो, आपकी आस्था भले ही बीजेपी में हो परन्तु इनके घमंड को तोड़ने के लिए और इनके गलत निर्णयों को तत्काल रोक लगाने के लिए आगामी निकाय चुनावों में बीजेपी को सत्य का आईना दिखाना बहुत ही आवश्यक हो गया है।
नंद किशोर जी का कहना है इन्हें (बीजेपी को) देश के युवाओं से नफरत है, इन्हें 70 साल के बुजुर्गों में सारा कौसल भरा दिख रहा है। प्रदेश में लगभग 15 लाख संविदा कर्मी हैं, पर इन्हें कोर्ट की चेतावनी के बावजूद नौकरी संविदा पर ही देनी है। इन्होंने नौकरी छीनने का ठेका ले रखा है, पर नौकरी देने के नाम पर इनके तोते उड़ जाते है ।
       देश की सबसे ज़्यादा आबादी वाला प्रदेश होने के बावजूद भी इस उत्तर प्रदेश में नौजवानों की स्थिति पूरे देश मे सबसे कष्टप्रद है ।
     निकाय चुनाव में बीजेपी को आइना दिखाना बहुत ही आवश्यक हो चला है। इसलिए भले ही आप इससे किसी भी रूप से जुड़े हो पर बीजेपी का बहिष्कार निकाय चुनाव में करें।