कैसे कोई बनवाए आधारकार्ड

जौनपुर, एकलव्य मानव संदेश ब्यूरो चीफ प्रदीप कुमार निषाद कि रिपोर्ट, 11 नवम्बर 2017। मेरे चचेरे बड़े भाई की लड़की दुकानदार के पास आधार कार्ड बनाने हेतु आवेदन की 50 रूपए फीस देकर रसीद लेकर घर चली आई चार छः महीने बाद आधार कार्ड बनकर नहीं आया दुबारा दुकानदार के पास गई दुकानदार उससे पांच सौ रुपए ले लिए।
सरकारी व गैर सरकारी आवश्यक कार्यों में प्रयोग किए जाने वाला आधार कार्ड को बनवाना दिन प्रतिदिन मंहगा होता जा रहा है। जिससे लोग खासे परेशान हैं। यह सब कुछ उस समय से और भी अधिक बढ़ गया है। जब से बैंकों ने आधार कार्ड के लिए जोर देना शुरू कर दिया है अनेक केन्द्र आधार कार्ड बनाने का कार्य करते हैं।
लेकिन लोगों का आरोप हैं कि आधार कार्ड बनाने या फिर संशोधन करने के लिए ये लोग पांच सौ रुपये तक वसूल लेते हैं। जल्द से जल्द आधार कार्ड उपलब्ध कराने के नाम पर अवैध वसूली की जा रही है आप ही बताइए कैसे कोई आधार कार्ड बनवाएगा।
अगर कोई विरोध करता है तो  बातो में उलझाकर कुछ कम ज्यादा करके दो सौ तीन सौ रुपये तक फिर भी वसूल लिए जाते हैं। अगर कोई इतने रुपये नही देता है तो उसका आधार कार्ड बनाने से मना कर दिया जाता है। आधार कार्ड बनाने वालो की मनमानी से लोग खासे परेशान हैं। इस संबंध में अधिकारियों का कहना है कि अगर ऐसा किया जा रहा है तो यह गलत है। वह इसकी जांच कराकर आवश्यक कार्रवाई करें।