ससुराल पहुँचकर दुल्हन ने की शादी

सिद्धार्थनगर, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्टर प्रदीप निषाद की रिपोर्ट, 11 नवम्बर 2017।  सिद्धार्थनगर शोहरतगढ क्षेत्र के ग्राम महथा बाजार में एक ऐसी शादी हुई जो एक मिसाल बन गई है। आपको बतादें कि खूश्बु गोस्वामी पुत्री कमलेश्वर गोस्वामी ग्राम कटेश्वरनाथ थाना इटवा की शादी शोहरतगढ थाना क्षेत्र के ग्राम महथा बाजार के रहने वाले राजकमल गोस्वामी पुत्र कमलेश्वर गोस्वामी के संग तय हुई थी, जिसकी देख रेख करने के बाद शादी का तिथि 18 फ़रवरी 2018 निश्चित हुई थी, लेकिन लडकी के पिता किसी कारणवश खुशबू की शादी राजकमल के साथ न करके कहीं और करना चाहते थे, जिसकी जानकारी लडकी को हुई तो लडकी अपने टूटते हुए रिश्ता को बर्दाश्त नहीं कर पायी और बिना शादी अपने ससुराल चली आई और यहाँ पहुँचकर गाँव के बाहर बना श्री समय माता के मन्दिर में माता को साक्षी मानकर हिन्दू रीति रिवाज के तहत एक दूसरे को जयमाल डालकर एवं लडके द्वारा लडकी के मांग मे सिंदूर भरकर एक दूसरे के साथ मरने जीने का कसम खाई। इस सम्बंध जब लडकी से बात की तो लडकी का कहना है कि मेरी शादी राजकमल के तय हुई थी। लेकिन मेरे पिता जी किसी दुसरे के बहकावे मे आकर यह रिश्ता तोडकर मेरा शादी कहीं और करना चाहते थे जिसका मैंने बहुत विरोध किया। मैने अपने माता पिता से यह तक कह दिया कि यदि मेरी शादी राजकमल के साथ न  करके कही दूसरे जगह करने की कोशिश किए तो मै जहर खाकर अपनी जान दे दूंगी लेकिन मेरे घर वाले मेरा बात नहीं मान रहे तो मै स्वयं इच्छा से आज अपने होने वाले पति के घर चली आई और मेरे ससुराल वालो ने अपनी बहू स्वीकार भी कर लिया। जिससे मैं नयी जिन्दगी जीने के शुरुआत कर चुकी हूँ। क्योंकि मैं बालिग हूँ और मुझे अपना वर चुनने का पूर्ण अधिकार भी है। इस सम्बन्ध में लडके का कहना हैं कि आज सुबह खुशबू मेरे पास आई और कहने लगी आप ही मेरे सबकुछ हो तो मैं अवाक रह गया और एक नारी शक्ति के जिद के आगे विवश होकर कोर्ट मैरिज का रजिस्ट्रेशन जिला पर करवाने के बाद समय माता के मंदिर में शादी कर ली है। आज से खुशबू मेरी जीवन साथी है जो साथ मरते दम तक निभायेंगे और लड़के के पिता कमलेश्वर व माता का कहना है कि खुशबू मेरी घर की बहू व इज्जत हैं जिसे पाकर हम लोग बहुत खुश हैं। इसे सदा सम्भाल कर रखेंगे। इस तरह बिना शादी के दुल्हन स्वयं ससुराल पहुँचकर स्वयं शादी रचाई, एक चर्चा का विषय है। इस अवसर पर लडके के पिता कमलेश्वर, चाचा छोटू, ग्रामवासी मनोज पाण्डेय, जीतेन्द्र गोस्वामी आदि लोग मौजूद रहे।