बेटी करे पुकार, कब तक सहते रहोगे अत्याचार

अलीगढ़, एकलव्य मानव संदेश ब्यूरो रिपोर्ट, 21 दिसम्बर 2017।
बेटी करे पुकार, कब तक सहते रहोगे अत्याचार।
कभी फूलन को सताया, तो अब सोनी को कटवाया।
जागो करो कुछ ऐसा की डरने लगे अत्याचारी।
करने से पहले किसी और बेटी पर अत्याचार।
जय निषाद राज।।   जय निषाद राज।।

हमारे प्रयास को अपना योगदान देकर और मजबूत करें

हमरी एंड्रॉइड ऐप मुफ्त में डाउनलोड करें

हमारे चैनल की मुफ्त में सदस्यता लें

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

निषाद पार्टी न्यूज़

न्यूज़ वीडियो

निषाद इतिहास