विश्व मानवधिकार पर मूलवासी सेना ने सीतापुर में गोष्ठी आयोजित की

सीतापुर, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्टर राजेश कश्यप की रिपोर्ट, 11 दिसम्बर 2017। हर मानव को अपने अधिकारों को हासिल करने के लिए संघर्ष करने करने का पूरा हक है। यदि कोई सामन्तवादी ताकत ऐसे संघर्षों को रोकने की कोशिश भी करता है तो वह मानवाधिकार का दोषी माना जायेगा।
           यह बात 10 दिसम्बर को विश्व मानवाधिकार दिवस के अवसर पर मूलवासी सेना के आवाह्न पर आयोजित गोष्ठी को मुख्य अतिथि के रूप में सम्बोधित करते हुए सामाजिक चिंतक देवेन्द्र कश्यप ने सकरन क्षेत्र के पिपरी अनन्तसिंह गॉव में कही। उन्होंने आगे कहा कि वही समाज मानवाधिकारों की सुरक्षा कर सकता है जो शिक्षित और एकजुट हो। क्योंकि शिक्षित मानव को भली भांति मालूम होता है कि उसके कौन कौन से अधिकार हैं और इन्हें कैसे हासिल किया जा सकता है।तथा शिक्षित मानव को यह भी मालूम होता है कि बगैर एकजुट हुए अधिकारों के लिए लड़ पाना बेहद मुश्किल है। उन्होंने यह भी कहा कि अधिकारों की मांग करने वालों को कर्तब्य पहले करना चाहिए। वंचित वर्ग शिक्षा और एकजुटता के अभाव में न ही कर्तब्य का बोध है और न ही अधिकारों का, इसलिए वंचित वर्ग शोषण का शिकार है। हरेक जागरुक व मानवाधिकार प्रेमी को वंचितों का हक दिलाने के लिए हर सम्भव सहयोग करना चाहिए। विशिष्ट अतिथि तहसील बिसवॉ प्रभारी सुधीर कुमार धुरिया ने कहा कि मानवाधिकार को प्राप्त करने के बीच में अनेक सामाजिक समस्याएं बाधा के रूप में हैं। जिनका उन्मूलन करके ही समाज को मानवाधिकारों से संतृप्त किया जा सकता है। उन्होंने यह भी कहा कि समाज शराब के नशे में रहने के कारण विकास के बजाय विनाश की ओर जा रहा है। इसलिए उन्हें मानवाधिकारों का भान तक नहीं है l शराब जैसी बुरी लत को खत्म करने के लिए हम सबको कमर कस खानी चाहिए यह मानवाधिकार को मजबूत करने की दिशा में मील का पत्थर साबित होगी। क्योंकि इससे देश शराब के आगोश से मुक्त हो जायेगा। अन्त में उपस्थित लोगों को विश्व मानवाधिकार दिवस के अवसर पर श्रंग्वेरपुरी महाराजा श्रीनिषादराज की फोटो के समक्ष शराब, अशिक्षा जैसी कुरीतियों को खत्म करने की शपथ दिलायी गयी। कार्यक्रम का आयोजन विशम्भर कश्यप व अध्यक्षता पैरूलाल धुरिया ने की।
         इस मौके पर शिवलाल धुरिया, छत्रपाल भार्गव, बिन्द्राप्रसाद जायसवाल, जगमोहन चक्रवर्ती, हरदयाल कश्यप, श्याम किशोर कश्यप, वनदेवी कश्यप, गुड़िया धुरिया, संगीता देबी सहित अन्य उपस्थित रहे l

हमारे प्रयास को अपना योगदान देकर और मजबूत करें

हमरी एंड्रॉइड ऐप मुफ्त में डाउनलोड करें

हमारे चैनल की मुफ्त में सदस्यता लें

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

निषाद पार्टी न्यूज़

न्यूज़ वीडियो

निषाद इतिहास