सिद्धार्थ विश्वविद्यालय का पहला दीक्षांत समारोह संम्पन्न हुआ

सिद्धार्थनगर, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्टर प्रदीप निषाद की रिपोर्ट, 14 दिसम्बर 2017। आज सिद्धार्थनगर जिले के सिद्धार्थ विश्वविद्यालय में पहले दीक्षात समारोह का आयोजन किया गया। दीक्षात समारोह में प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने शिरकत की। महामहिम राज्य पाल ने अपने उद्बोधन के दौरान कहा कि इस विश्वविद्यालय में बुद्ध से जुडी हुई फैकल्टी होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पहले जिन छात्रो को पदक दिया जाता था वो जो परिधान पहन कर आते थे वो गुलामी का प्रतीक था। मैंने सभी विश्वविद्यालयो के कुलपतियों को बुलाकर सबसे कहा कि जब छात्रो को दीक्षात समारोह में मैडल दिया जाएं, तो उसी परिधान में वो हों, जो अपना परिधान है। बताते चले इस विश्वविद्यालय से 7 जिलो के कालेज जुड़े हैं। इन जिलों के कालेजों के 1 लाख से ज़्यादा छात्र-छात्राएं परीक्षा पास कर चुके हैं। यह विश्वविद्यालय दो वर्षो में ही अपनी ख्याति बनाने में कामयाब रहा है। इस विश्वविद्यालय के दीक्षान्त समारोह में 52 छात्र-छात्राओं को स्वर्ण पदक और 26 छात्र-छात्राओं को डिग्री देकर सम्मानित किया गया।