महाभारत काल में एकलव्य का अंगूठा काटने वालों के वंशज ही हैं आरएसएस के संचालक

गोरखपुर, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्ट, 21 दिसम्बर 2017। निर्बल इंडियन शोषित हमारा आम दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष महामना डा. संजय कुमार निषाद ने एक वक्तव्य में कहा है कि महाभारत काल में महान धनुर्धर परमवीर एकलव्य का अंगूठा काटने वाले द्रोणाचार्य के वंशज ही आज हैं जो आरएसएस के संचालक हैं। और एक साजिश के तहत निषाद समाज को पीछे करने के काम में लगी है बीजेपी। क्योंकि उन्हें पता है कि पूरे देश में पाये जाने वाला 22 करोड़ से अधिक संख्या वाला निषाद, मछुआरा समाज राजनैतिक संरक्षण व रोटी, कपड़ा और मकान, मान, सम्मान स्वाभिमान पा गया तो द्रोणाचार्यवंशीयों की हैसियत पता चल जायेगी।
डा. संजय कुमार निषाद बताया कि आगामी मार्च 2018 में महाराज गुह्यराज निषाद जी के श्रृंगवेरपुर इलाहाबाद उ.प्र. में स्थित किले पर निषाद पार्टी का राष्ट्रीय अधिवेशन, राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ संजय कुमार निषाद के संयोजन में आयोजित किया जाएगा। जिसमें मछुआरा समाज की जातियों के आरक्षण व परम्परागत पुश्तैनी पेशों के सन्दर्भ में चर्चा कर आंदोलन की रणनीति तय की जायेगी।