केवल अनुशाषित और लगातार तीन दिवसीय प्रशिक्षण से दक्ष और प्रशिक्षित कार्यकर्ता ही निषाद पार्टी को मिशन तक पहुंचा सकते हैं


गोरखपुर, एकलव्य मानव संदेश ब्यूरो रिपोर्ट, 22 दिसम्बर 2017। निर्बल इंडियन शोषित हमारा आम दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष महामना डॉ संजय कुमार निषाद जी का मानना है केवल अनुशाषित और लगातार तीन दिवसीय प्रशिक्षण से दक्ष और प्रशिक्षित कार्यकर्ता ही निषाद पार्टी को मिशन तक पहुंचा सकते हैं। क्योंकि पिछड़े और शोषित वर्ग में कई ऐसी परिस्थितियां आज उत्पन्न हो गई हैं, की एक मजबूत से मजबूत कार्यकर्ता को मजबूर बना देती है। लेकिन अगर कोई भी कार्यकर्ता लगातार हर तीन महीने में तीन दिवसीय प्रशिक्षण प्राप्त करता रहता है तो वह अपनी परिस्थितियों से नहीं घबराता है और मंजिल तक अपने मिशन को पंहुचा देता है।
लगातार प्रशिक्षण इस लिये जरूरी है कि समाज में तेज़ी से बादल आते रहते हैं और उसके लिए प्रशिक्षण ही एक सहारा है। जैसे किसी चाकू या छुरी पर कितनी ही तेज धार क्यों न रखी हो, वह भी चलते चलते मोथरी हो ही जाती है। और उसकी धार लगातार रख वाते रहने से उसका कार्य सुचारू रूप से चलता रहा है। चाहे वो कितनी ही पुरानी क्यों नहीं हो जाये।
दूसरी बात है लोग कहते हैं और कितना प्रशिक्षण लें। तो आपको एक सलाह है प्रशिक्षण एक लगातार चलते रहने वाली प्रक्रिया है। और आपको जब तक प्रशिक्षण लेते रहना चाहिए, जब तक आप अपने प्रशिक्षक के जैसे नहीं हो जाते। और यह ही आपकी सफलता की निशानी है। क्योंकि आपका प्रशिक्षक भी आपकी तरह लगातार अपने आपको प्रशिक्षित करता रहता है, यानी आपसे हमेशा ज्यादा प्रशिक्षित रहता है। इसलिए कभी भी अपने प्रशिक्षक के सामने अपनी ताल मत ठोको, वह आपकी काट आपसे ज्यादा जनता है। इसके अलावा पत्ता और डाली जब तक पेड़ से जुड़ी हुई हैं तभी तक कामयाब हैं, उसके बाद सूखना और जलना ही पड़ता है इनको।
जागो,
जय निषाद राज

हमारे प्रयास को अपना योगदान देकर और मजबूत करें

हमरी एंड्रॉइड ऐप मुफ्त में डाउनलोड करें

हमारे चैनल की मुफ्त में सदस्यता लें

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

निषाद पार्टी न्यूज़

न्यूज़ वीडियो

निषाद इतिहास