कुख्यात डकैत प्रेमा ढीमर को 10 साल की सजा

दतिया, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्टर हरनारायण रायकवार की रिपोर्ट, 16 जनवरी 2018। दतिया के प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश हितेंद्र द्विवेदी ने कुख्यात डकैत प्रेमा ढीमर को 10 साल के कारावास और पांच हजार रुपए के अर्थदंड से दंडित किया है। इस चर्चित व सनसनी खेज मामले की पैरवी लोक अभियोजक केएन श्रीवास्तव ने की। उन्होंने बताया कि 27 जून 2014 को मऊदा माता मंदिर के पास जंगल में तत्कालीन चंबल आईजी डीसी सागर ने सूचना मिलने पर तत्कालीन एसपी आरपी सिंह व डीएसपी एमपी शर्मा और तत्कालीन सेंवढ़ा व वर्तमान सिविल लाइन टीआई नरेंद्र शर्मा के साथ जंगल में कुख्यात डकैत बालकदास ढीमर व उसकी गैंग के सदस्यों की तलाश की। तभी पुलिस का सामना पुलिस से हो गया। पुलिस को देखकर डकैतों ने फायर किए। जवाबी फायर में गैंग सरगना बालकदास ढीमर और उसका साथी दिनेश उर्फ भदौरिया ढेर हो गए थे। वहीं डकैत प्रेमा ढीमर पुलिस ने जिंदा पकड़ा था। मामले का निराकरण करते हुए न्यायाधीश श्री द्विवेदी ने डकैत प्रेमा ढीमर को 10 साल के कारावास और पांच हजार के अर्थदंड से दंडित किया है।

हमारे प्रयास को अपना योगदान देकर और मजबूत करें

हमरी एंड्रॉइड ऐप मुफ्त में डाउनलोड करें

हमारे चैनल की मुफ्त में सदस्यता लें

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

निषाद पार्टी न्यूज़

न्यूज़ वीडियो

निषाद इतिहास