हम बेटे के वलिदान को व्यर्थ नहीं जाने देंगे-फूलन देवी (शहीद अखिलेश निषाद की माँ)

इटावा, एकलव्य मानव संदेश ब्यूरो रिपोर्ट, 12 जनवरी 2018। निषाद वंशीय जातियों (मल्लाह, केवट, बाथम, तुरैहा, गोड़, बिंद, धींवर, कहार, कश्यप, रायकवार, धुरिया, मेहरा, आदि) के आरक्षण के लिए 7 जून 2015 को मगहर, गोरखपुर में हुए रेल रोको आंदोलन में (आजद भारत मे एक मात्र )अपने प्राणों की आहुति देने वाले इटावा की धरती के वीर सपूत, शहीद अखिलेश सिंह निषाद की माता जी श्रीमती फूलन देवी  ने एकलव्य मानव संदेश के संपादक जसवन्त सिंह निषाद से बात करते हुए बताया कि मुझे गर्व है कि मेरे बेटे ने अपनी जाति की भलाई के लिए प्राणों की आहुति दी है। लेकिन मुझे बहुत ही दुःख होता है जब कोई स्वार्थी और अपने भले के लिए समाज को धोखा देने वाले जब कहते हैं कि डॉ संजय कुमार निषाद ने अखिलेश निषाद की हत्या कराई। ऐसे लोग वीर शहीद अखिलेश सिंह निषाद की निषाद वन्स के लिये दी गई कुर्बानी का अपमान कर रहे हैं।
श्रीमती फूलन देवी ने कहा है कि हमारा बेटा राष्ट्रीय निषाद एकता परिषद का कार्यकर्ता था। और अब राष्ट्रीय निषाद एकता परिषद की निर्बल इंडियन शोषित हमारा आम दल पार्टी बन गई है और इसके साथ शहीद अखिलेश सिंह नहीं की कुर्बानी भी जुडी हुई है। हमारा परिवार निषाद पार्टी के साथ ही हमेशा जुड़ना रहे गया। हम चाहते हैं निषाद पार्टी की सरकार बने और डॉ संजय कुमार निषाद मुख्य मंत्री बनकर हमारे समाज के साथ अन्य गरीबों का कल्याण करें।
शहीद अखिलेश सिंह निषाद के पिता आत्मा राम निषाद ने भी अपना पूरा समर्थन डॉ संजय कुमार निषाद और निषाद पार्टी के प्रति व्यक्त किया है। और उन लोगों की आलोचना की है कि आप अपने स्वार्थ के लिए अखिलेश निषाद के वलिदान पर बनी पार्टी को कमजोर करना चाहते हो, ये बहुत बड़ा अपराध है और आने वाली पीढ़ियां आपको कभी माफ नहीं करेंगीं। उन्होंने पार्टी को नुकसान पहुंचाने वालों से सवाल किया क्या आपका नुकसान शहीद अखिलेश सिंह निषाद के प्राणों से ज्यादा है।