भड़काऊ नारों ने कराया कासगंज दंगा

कासगंज, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्ट, 28 जनवरी 2018। कासगंज के विवाद का एक पहलू निकल कर आ रहा है, भड़काऊ नारे। दरअसल 69वें गणतंत्र दिवस के मौके पर कासगंज के वीर अब्दुल हामिद चौराहे पर सभी समुदाय के लोग एकत्रित होकर झंडावंदन की तैयारी में लगे थे, तभी विश्व हिंदू परिषद और एबीवीपी के कार्यकर्ताओं की बाइक रैली चौराहे पर पहुंची। इस रैली ने देशभक्ति के नारे छोड़कर “जय श्रीराम” का नारा देना शुरू कर दिया।
इसके बाद उन्होंने ”वंदे मातरम्” के नारे के साथ “हिंदुस्तान में रहना होगा जय श्रीराम कहना होगा” जैसा भड़काऊ नारा लगाना शुरू कर दिया गया। इसके बाद एक और भड़काऊ नारा दिया जाने लगा “मुल्लो का एक ही स्थान पाकिस्तान या कब्रिस्तान” जैसे नारे जोर जोर से लगाने लगे।
झगड़े के बाद दोनों पक्षों में हुई फायरिंग में एक पक्ष के युवक की मृत्यु हुई, तो दूसरे पक्ष का युवक गोली लगने से हुआ घायल।
इस नारेबाज़ी के बाद मामला और तब बिगड़ गया जब एक टोपी पहने शख्स को पकड़कर उससे ज़बरदस्ती जय श्रीराम के नारे लगवाने की कोशिश की गई, उसे खींचकर थप्पड़ मारे गए, इस घटना के बाद मुस्लिम लड़कों की भीड़ उस स्थान में इकठ्ठा होने लगी। इस बहस और हाथापाई के बाद दोनों तरफ से फायरिंग और पत्थरबाजी शुरू हुई, जिसमें तिरंगा यात्रा में शामिल एक युवक चंदन गुप्ता की गोली लगने से मौत हो गई थी। न सिर्फ चन्दन गुप्ता की मृत्यु हुई बल्कि दूसरी तरफ से हुई फायरिंग में एक मुस्लिम युवक भी घायल है।
कासगंज के वीर अब्दुल हमीद चौराहा पर गणतंत्र दिवस के मौके पर तिरंगा फहराने की तैयारी चल रही थी। लोगों को बैठने के लिए कुर्सियां लगाई जा रहीं थीं। तभी तिरंगा यात्रा वहां पहुँची और कुर्सियां हटाने के लिए जोर देने लगे। चौराहे पर कार्यक्रम आयोजित करने वाले लोगों ने कहा पहले यहीं झंडा मिलकर फहराते हैं उसके बाद हम भी आपके साथ चलेंगे। लेकिन तिरंगा यात्रा वाले नहीं माने और जोर जोर से भड़काऊ नारे लगाने लगे, जिससे माहौल बिगड़ गया और यात्रा में शामिल लोग फायरिंग के शुरू होते ही अपनी मोटर साईकिल छोड़ कर भागने लगे।
कुछ देर बाद एक बड़ा झुंड वीर अब्दुल हमीद चौराहा पर पहुंचा। और दोनों तरफ से फायरिंग और आगजनी सुरु हो गई। उपद्रवियों ने शहर के कई इलाकों में जमकर उत्पात मचाया और माहौल को बिगड़ा।
कासगंज में स्थिति तनावपूर्ण एवं नियंत्रण में है। 50 से ज्यादा उपद्रवियों को अब तक गिरफ्तार किया गया है। भारी संख्या में पुलिस और सुरक्षा बालों को तैनात किया गया है। एडीजी कानून व्यवस्था भी मौके पर हालात का जायजा लेने कासगंज पहुंचे। शहर में धारा 144 और इंटरनेट सेवाएं रोक दी गईं हैं। शहर में पूरी तरह से कर्फ्यू लगा दिया गया है।

हमारे प्रयास को अपना योगदान देकर और मजबूत करें

हमरी एंड्रॉइड ऐप मुफ्त में डाउनलोड करें

हमारे चैनल की मुफ्त में सदस्यता लें

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

निषाद पार्टी न्यूज़

न्यूज़ वीडियो

निषाद इतिहास