कुछ लोग केवल गुमराह करना, गलत आरोप, आलोचना, निंदा, अपशब्द या कुतर्क में ही लगे हुए हैं-डॉ संजय निषाद

गोरखपुर, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्ट, 9 जनवरी 2018। राष्ट्रीय अध्यक्ष महामना डॉ. संजय कुमार निषाद ने निर्बल इंडियन शोषित हमारा आम दल (निषाद पार्टी) ओर राष्ट्रीय निषाद एकता परिषद  के सभी कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारीओं को बिना किसी बहस के अपनें लक्ष्य एवं उद्देश्य के प्रति गंभीरतापूर्वक संगठनात्मक काम करते रहने के लिये कहा है। डॉ संजय कुमार निषाद का कहना है, कुछ लोग समाज को सही दिशा देने के बजाय केवल गुमराह करना, गलत आरोप, आलोचना, निंदा, अपशब्द या कुतर्क में ही लगे हुए हैं और यही उनका काम हैं।
आपने कार्यकर्ताओं को निर्देश दिया है कि आप इनसे  न उलझें और न समय बर्बाद करें। कुछ लोग कुंठा, ईर्ष्या, कुटिलता अथवा दम्भ आदि के शिकार हैं। ऐसे व्यक्ति सदैव नकारात्मक रहेंगे। ऐसे कुटिल चरित्र समाज में सक्रिय हैं।
हम लोगों को किसी लकीर को मिटाने की बजाय बड़ी लकीर खींचना हैं। पार्टी अपना पहला लक्ष्य 18 मंडल एवं 75 जिलो का गठन  पूरा कर लेना है। दूसरा लक्ष्य 80 लोकसभा एवं 403 विधानसभाएं भी पूरी होने वाली है। साथ ही संगठन सभी ब्लाकों एवं गांवों तक पहुंच रहा है।
इसके लिए पार्टी को सक्रिय एवं समर्पित कार्यकर्ताओं की आवश्यकता है। सक्रिय एवं समर्पित कार्यकर्ता तैयार करने के लिए शिक्षण-प्रशिक्षण कार्यक्रम किये जा रहे हैं। अभी हम सब लोगों को कड़ी मेहनत करनी है। लोग कुछ भी कहें, हम लोगों को विचलित नहीं होना है। आगे निषाद पार्टी के पास सत्ता की मास्टर चाभी जरूर होगी। आप अनुशासित कार्यकर्ता बनकर काम करते रहें