निषाद पार्टी के आलोचक किस पार्टी को वोट दिलाना चाहते हैं ?

अलीगढ़, एकलव्य मानव संदेश ब्यूरो रिपोर्ट, 17 जनवरी 2018। आज लोग क्यों खुशहाल है ?
क्या निषाद वंस को कोई कांशीराम जी ?
मुलायम सिंह यादव जी ?
बहन मायावती जैसा राजनीति करने वाला मिल गया ? समाज ने कुछ देखा है।
समाज ने कुछ महसूस किया है।
आज दर्द का एक-एक कौना खुशहाल दिखाई दे रहा । समाज को इतिहास पर गर्व महसूस होने लगा है।
आज रगों में खून कुछ और उबाल ले रहा है।
जिनमें कोई बात होती है,
उन्ही की कोई बात होती है।
आज समाज औरों को क्यों नहीं पुछ रहा है।
सारे संगठनों के कार्यकर्ता क्यों निषाद पार्टी से जुड़ रहे हैं ?
दूसरी पार्टीयां क्यों महामना मा. डाॅ संजय कुमार निषाद जी के पीछे पड़ी हुई हैं ?
क्यों निषाद पार्टी में ही घुसपैठ हो रही है ?
           ऐसे कौन से लोग हैं जो सभी पार्टियों का विरोध ना करते हुए सिर्फ निषाद पार्टी का विरोध कर रहे हैं ? इनको क्या कहें ?
या तो ये सपाई हैं ?
या तो ये भाजपाई हैं ?
या तो ये बसपाई है ?
या तो ये कांग्रेसी है ?
ये लोग समाज का वोट किस पार्टी में दिलाना चाहते हैं ?
क्योंकि सत्ता ही सभी तालों की मास्टर चाबी होती है।
और जिस-जिस समाज के पास सत्ता की चाबी रही है, वही समाज सभी क्षेत्रों में प्रगति कर पाया है।
तो क्या जो लोग निषाद पार्टी का विरोध कर रहें और अब तक विभिन्न पार्टियों में सक्रिय रहे हैं क्या समाज की दहशत अपनी अपनी पार्टी में बना पाए ?
क्या निषादराज गुह्यराज महाराज के श्रृंगवेरपुर के किले की पहचान राष्ट्रीय निषाद एकता परिषद के आने से पहले करा सके ?
क्या कभी किसी प्रधानमंत्री ने निषाद राज की धरती को 9-9 बार नमन किया ?
क्या कभी कोई सरकार निषादराज गुह्यराज महाराज के किले को पहले कभी पर्यटक केंद्र घोषित कर पाई ?
क्या कभी किसी सरकार ने करोणों रुपये निषाद राज के किले के सौन्दरीकरण के लिए लगाने की सोची ?
ये सब पहले कभी नहीं हुआ, लेकिन अब होगा ?
आपको सत्ता से पहुचने से रोकने के लिए, सरकार भटकाना चाहती है ?
अब जो इन भटकाने वालों के एजेंट हैं, समझलो वो आपको सत्ता से दूर रखने के लिए अपनी जेबें गर्म करके, आपको पीछे रखकर अपनी दलाली की दुकान को जीवित रखना चाहते हैं। इनसे सावधान रहने का समय है। सत्ता निषाद पार्टी के द्वारा अब आपके करीब आने वाली है और आपके सभी दुखों का अंत भी निश्चित है। बस इन एजेन्टों से सावधान रहने की जरूरत है।
आपका भला केवल आपके मशीहा डॉ संजय कुमार निषाद के सूत्र से ही संभव है। उनकी शिक्षा, कैडर से प्रशिक्षित होने के लिए अपने जिले के निषाद पार्टी के कार्यकर्ता से सीघ्र संपर्क करें। आपका कल्याण होगा, समाज भी शसक्त होगा।
जय निषाद राज।
महामना डॉ संजय कुमार निषाद जिन्दाबाद
निषाद पार्टी जिंदाबाद।
जय निषाद राज

हमारे प्रयास को अपना योगदान देकर और मजबूत करें

हमरी एंड्रॉइड ऐप मुफ्त में डाउनलोड करें

हमारे चैनल की मुफ्त में सदस्यता लें

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

निषाद पार्टी न्यूज़

न्यूज़ वीडियो

निषाद इतिहास