निषाद पार्टी के कार्यकर्ता, विभीषणों से सावधान रहें-डॉ संजय कुमार निषाद

गोरखपुर, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्ट, 11 जनवरी 2018। "एक कड़वा सच" राम ने लंका का युद्ध नहीं जीता था। वानरीय सेना ने युद्ध नहीं जिताया था। अगर कोई युद्ध जिताया, तो वह था विभीषण। आज सपा, बसपा, भाजपा, कांग्रेस युद्ध कैसे जीत रहे हैं ? क्योंकि इन पार्टियों ने विभीषण पैदा कर रखे हैं समाज में। ये विभीषण कभी हमारे समाज को जीत की दहलीज पर नहीं आने देंगे।
आज निषाद पार्टी व राष्ट्रीय निषाद एकता परिषद समाज में पल रहे सभी विभीषण की पहचान कर दरकिनार कर रही है। आज उसी कि देन है विभीषण रहित यह निषाद पार्टी खड़ी हुई है । समाज के बेहतर भविष्य के लिए निषाद पार्टी सभी विभीषणो को दरकिनार करेगी। आज से ये मान लो जो भी निषाद पार्टी का विरोध करता हो, वह समाज का यार नही गद्दार है। वह एक दूसरे पार्टियों द्वारा भेजा हुआ विभीषण है।
जय निषाद राज साथियों
महामना मा डॉ संजय कुमार निषाद जिंदाबाद ।।
निर्बल इण्डियन शोषित हमारा आम दल जिंदाबाद ।।

हमारे प्रयास को अपना योगदान देकर और मजबूत करें

हमरी एंड्रॉइड ऐप मुफ्त में डाउनलोड करें

हमारे चैनल की मुफ्त में सदस्यता लें

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

निषाद पार्टी न्यूज़

न्यूज़ वीडियो

निषाद इतिहास