निषाद पार्टी अपने बूते पर भी गोरखपुर में भाजपा को हराने के लिए तैयार है

अलीगढ़, एकलव्य मानव संदेश ब्यूरो रिपोर्ट, 26 जनवरी 2018। निषाद पार्टी और निषाद पार्टी के मुखिया महामना डॉ संजय कुमार निषाद के खिलाफ जो भी कुछ बोलता है समझ लीजिये वह भाजपा, सपा, बसपा या कांग्रेस का एजेंट है। और उसका काम केवल समाज को बरगला कर अपनी रोटी रोजी का इंतजाम करना है। कुछ अन्य पार्टीयों से आये हुए लोग भी जो केवल अपने स्वार्थ के लिए पार्टी में आये थे और जब उनका स्वार्थ पूरा नहीं हुआ इसलिए वे पार्टी को मजबूत करने के लिए काम न करके उल्टा नुक्सान पहुँचाने लग गये। निषाद पार्टी एक दरिया है इसमें आकर अनेकों विचार धाराओं के लोग आते हैं और अगर वे अपनी विचारधारा को जब तक त्याग नहीं पाते हैं वे निषाद पार्टी के निष्ठावान कार्यकर्ता या पदाधिकारी भी नहीं बन पाते हैं।
कुछ दलाल लोग जो अपने अब तक के जीवन में कोंग्रेस, भाजपा या सपा में घूमते रहे हैं। और आरक्षण मांगते रहे हैं। और अपने जीवन चलाने और घर बनाने के लिए समाज को गुमराह करते रहे हैं। उनसे भी सावधान रहने की जरुरत है।
निषाद पार्टी के मुखिया महामना डॉ संजय कुमार निषाद जी ने समाज को बताया की सत्ता ही सभी समस्याओं का समाधान कर सकती है और सत्ता वोट से आती है और वोट पार्टी में पड़ता है। जिस जिस समाज ने पार्टी बनाई उसकी समस्याओं का हल हुआ और जो संगठन बनाने में लगे रहे वो केवल दलाली का साधन बन गए क्योंकि वोट संगठन में नहीं पार्टी में पड़ता है। कुछ पार्टीयां भी बनीं लेकिन वे भी संगठन की तरह ही चलीं।  निषाद वंस के एक महान सपूत जिसने किसी पार्टी से भीख नहीं मांगी अपनी हिस्सेदारी के लिए सत्ता का पाठ पढ़ाकर सभी पार्टियों को मजबूर कर दिया है कि आज भाजपा, सपा, बसपा और कांग्रेस खुद उनका विरोध नहीं कर पा रहीं हैं। गोरखपुर में चुनाव तक घोषित करने से भाजपा घबरा रही है। लेकिन कुछ ऐसे लोग जो इन पार्टीयों से कुछ पैसे लेकर अपना जीवन यापन कर रहे हैं, वे ये दिखाने की होड़ में लगे हैं कि निषाद पार्टी को हम कमजोर कर सकते हैं। जैसे कुल्हाड़ी जो लकड़ी को काटती है उसमें बेंट लकड़ी का ही लगता है। और बेंट यह देखकर खुश हो जाता है कि में लकड़ी काटने वाले के हाथ में हूँ मैं।
निषाद पार्टी के मुखिया महामना डॉ संजय कुमार निषाद ने निषाद वन्स के आरक्षण के लिए मुख्यमंत्री आवास घेरा, कसरवल में रेल रोको आंदोलन किया। गोरखपुर में रेल रोका। संसद मार्च किया। पूरे प्रदेश में रेल रोको आंदोलन किया। खुद एक माह जेल में रहे। एक हमारा बेेेटा 7 जून 2015 को इटावा से जाकर शहीद हो गया। ये आजाद भारत में निषाद जाति के लिए शहीद अखिलेश सिंह निषाद की पहली कुर्वानी थी। जिसे कुछ दलाल और मक्कार लोग आज हत्या बताकर शहीद अखिलेश सिंह निषाद की आत्मा को ठेस पहुंचा रहे हैं। 
मैं आप सभी से पूंछना चाहता हूं क्या समाज के लिए एक बेटा शहीद हुआ तो वह गलत था। अन्य समाज के लोगों ने अपने समाज के लिए सैकड़ों की संख्या में अपनी जान दी है। और हमारा समाज कुर्वानी से डरता है। औऱ कहा गया है जो डर गया समझो मर गया। और इसी लिए निषाद वंस अपना अधिकार प्राप्त नहीं कर पा रहा है।
निषाद पार्टी ने 5 जून 2015 के कसरबल कांड की सीबीआई जांच की मांग के लिए खुद सभी जिलों से आरक्षण की मांग के साथ के लिए कई बार ज्ञापन दिया है। लेकिन ऐसे लोग जो अपनी रोटी रोजी के लिए महामना डॉ संजय कुमार निषाद जी पर अनर्गल आरोप लगा कर अपनी भड़ास निकालने में लगे हैं उनको किसी कुँए में जाकर डूब कर मर जाना चाहिए। क्योंकि उनके प्रयासों से समाज आज आगे बढ़ने की जहग बहुत पीछे चला गया है।
आओ अगर आप समाज को उसका हक अधिकार दिलाना चाहते हो तो 3 दिन का समय निकालकर आओ, अपने दिमाग के ऑपरेशन कराने के लिए हमारे लखनऊ से फैज़ाबाद हाइवे पर निर्माणाधीन राष्ट्रीय कार्यालय पर महामना डॉ संजय कुमार निषाद जी के पास। आपका दिमाग और महामना का दिमाग जब मेल खा जाएगा तभी मिलकर समाज का भला कर सकते हैं और सत्ता तक आसानी से पहुंचा सकते हैं। 
कुछ दलाल कहते हैं एक जाति से सत्ता नहीं आती और खुद ही एकता के सूत्र में बंधे समाज को तोड़ने के लिए कभी मल्लाह बाद, कभी केवट बाद, कभी अन्य बाद के द्वारा कमजोर करते रहे हैं। क्या समाज को फिरकों में बंटे रहने देना चाहिए या रोटी बेटी के साथ सत्ता में भी पहुचना चाहिए।
निषाद पार्टी गोरखपुर में खुद चुनाव लड़ेंगी। अगर सपा बसपा और कोंग्रेस चाहती हैं कि भाजपा को हराया जाये, तो हमारा समर्थन करेंगी। अन्यथा निषाद पार्टी आज गोरखपुर में भाजपा को अपने बल पर हराने के लिए तैयार है।
अगर किसी को कोई प्रतिक्रिया देनी हो तो वह मुझे डायरेक्ट संपर्क कर सकते हैं।
अब निषाद वंस का एक ही सहारा।
निषाद पार्टी की सरकार हो हमारा  ।
जय निषाद राज
महामना संजय कुमार निषाद जिंदाबाद।
निषाद पार्टी जिंदाबाद।
जसवन्त सिंह निषाद
राष्ट्रीय सचिव 
निर्बल इंडियन शोषित हमारा आम दल
(N.I.S.H.A.D.पार्टी)
निवास-कुआरसी, अलीगढ़, उत्तर प्रदेश, 202002।
व्हाट्सएप नं 9219506267
मो. नं.9457311662

हमारे प्रयास को अपना योगदान देकर और मजबूत करें

हमरी एंड्रॉइड ऐप मुफ्त में डाउनलोड करें

हमारे चैनल की मुफ्त में सदस्यता लें

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

निषाद पार्टी न्यूज़

न्यूज़ वीडियो

निषाद इतिहास