निषादों पर उत्तर प्रदेश सरकार की मार, नाव से बालू निकासी नहीं होने दे रही

ज्ञानपुर, भदोही, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्टर शिवकान्त निषाद की रिपोर्ट, 10 फरवरी 2018।  भदोही जिला में कई पुस्तों, जंघीराबाद, रामपुर घाट, गुलौरी घाट, बिहरोजपूर, बेराषपुर घाट आदी घाट नाव से बालू निकासी कि जाती थी परंतू अब नाव से निकासी बंद कर दी गई है।
नाव घाट से बालू निकासी निषादों के द्वारा आदि काल से की जाती रही है। नदियों पर निषाद वंस का आर्यों के आगमन से पूर्व का अधिपत्य रहा है। और नदियों से बालू, मछली और नौका फेरी से ही निषाद अपनी जीविकोपार्जन करते रहे हैं। लेकिन वर्तमान भाजपा सरकार ने अब नदियों से बालू निकासी पर रोक लगा दी है। जो एक प्रकार से इन गरीबों की रोजी रोटी छीनने का कार्य किया जा रहा है।
एक तरफ सरकार निषाद वंसीय लोगों को उनके पुश्तेनी धंधों से बेदखल करने में लगी है और दूसरी तरफ उनको कोई रोजगार के विकल्प भी नहीं दे पा रही है। इस वंस के लोगों के साथ योगी सरकार का रवैया बहुत ही कस्टदाई है क्योंकि इलाहाबाद हाईकोर्ट के द्वारा 29 मार्च को अनुसूचित जाति के प्रमाण पत्र बनाने पर लगी रोक हटाये जाने के बाद भी अभी तक सरकार उस आदेश का पालन नहीं करा सकी है। जिससे इस वंस के लोगों को अनुसूचित जाति का लाभ नहीं मिल पा रहा है।