कितनी खतरनाक है बीजेपी की जातिवादी मानशिकता की लिस्ट ??

अलीगढ़, एकलव्य मानव संदेश सोशल मीडिया रिपोर्ट, 24 फरवरी 2018। भारतीय जनता पार्टी के कुछ अनजाने लोग निषाद पार्टी और सपा गठबंधन पर सवाल उठा रहे हैं। उनको शायद यह नहीं पता की बीजेपी के जातिवादी मानशिकता की कितनी खतरनाक लिस्ट है।
कल्याण सिंह जी, समधी स्व. मनोहरलाल निषाद(पूर्व मंत्री व सांसद, कानपुर) व शुश्री उमा भारती जी लोधी, जो बीजेपी के सवर्ण जातिवादी मानशिकता को बर्दास्त नहीं हुईं।
 उमा भारती जी!! जिन्होंने कांग्रेश मुक्त मध्यप्रदेश कर बीजेपी को सत्ता दी थी। पर पिछड़ों का बर्चश्व न बढे, इस लिए उमा भारती जी को मुख्यमंत्री पद से हटा दिया। और फिर कभी उनको उनके गृह प्रदेश मध्यप्रदेश में राजनीती नहीं करने दी।
उसी तरह कल्याण सिंह जी, जो लोधी और निषादों के बिच व पिछड़ों के एक छत्र नेता बन चुके थे, उनको पार्टी से निकाल दिया और अब उत्तर प्रदेश से राजस्थआन के रेगिस्तान में भेज दिया।
लेकिन सवर्ण लिंगया समुदाय के येदुरप्पा के बग़ावत के बाद आज उन्ही को कर्नाटक का बागडोर दे दी।
गोरखपुर कौरीराम में बीजेपी व आज के मुख्यमंत्री के प्रत्याशी के खिलाफ निर्दलीय चुनाव लड़ने वाले उपेन्द्र दत्त शुक्ल को आज सबसे प्रतिष्ठित लोक सभा गोरखपुर के प्रतिनिधत्व की जिम्मेदारी सौंपने को तैयार हो गयी। क्योकि उपेन्द्र दत्त शुक्ल जी ब्राह्मण व सवर्ण हैं।
बीजेपी में पिछड़ा कोई बगावत करे तो बागी और सवर्ण बगावत करे तो सिद्धान्तवादी!!
पब्लिक है सब जानती है
अब पिछड़ा भी जुमले और मुहावरे में क्या अन्तर होता है, समझने लगा है।
महेंद्र निषाद
(की फेसबुक वॉल से साभार लिया गया)

हमारे प्रयास को अपना योगदान देकर और मजबूत करें

हमरी एंड्रॉइड ऐप मुफ्त में डाउनलोड करें

हमारे चैनल की मुफ्त में सदस्यता लें

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

निषाद पार्टी न्यूज़

न्यूज़ वीडियो

निषाद इतिहास