आम के हरे पेड़ो पर माफिया ने चलाई आरी


मीरगंज, बरेली, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्टर राज कुमार निषाद की रिपोर्ट, 15 फरवरी 2018। बरेली जनपद के मीरगंज तहसील के बूंची गांव स्थित एक बाग में खड़े आम के  हरे-भरे पेड़ों पर वन माफिया ने आरी चलवा दी। पोल भी तब खुली जब लकड़ी भरा ट्रक एक खेत मे फंस गया। ग्रामीणों की सूचना पर पहुंचे रेंजर ने किसी तरह के प्रतिबंधित पेड़ों के कटान पर रोक लगाकर कटी लकड़ी को कब्जे में लेकर बाग मालिक और ठेकेदार दोनों के विरुद्ध लिखापढ़ी की है।
       थाना शीशगढ़ के ग्राम बूंची निवासी नाथू लाल का बाग  है। इस बाग में खड़े पेड़ों को एक वन माफिया ने ओने पौने दामों में खरीद लिया और बिना वन विभाग की अनुमति के ही आम के पेड़ों का कटान रात में शुरू करा दिया। बाग में खड़े सभी पेड़ो को काटता कि इससे पूर्व इन कटे पेड़ों की लकड़ी को एक ट्रक में भर कर कहीं ले जाने लगा। इस बीच लकड़ी भरा ट्रक रामपाल के गेहू के खेत में फंस गया। माफ़िया ट्रक को छोड़कर एक अन्य वाहन की व्यवस्था करने कहीं चला गया। गांव वालों ने इस कटान का विरोध किया कि पेड़ों पर बोर आ गया कैसे परमिट बन गया। ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। जहाँ से जानकारी मिली कि परमिट होता तो जरूर थाने पर आता। इस अबैध बाग कटाई की सूचना मिलने पर मीरगंज से वन क्षेत्राधिकारी अनिल कुमार मिश्रा घटना स्थल पर पहुंचे और पेड़ कटान देखकर दंग रह गए। कटी पड़ी लकड़ी को मय वाहन के कब्जे में लिया गया।
वन क्षेत्राधिकारी ने बताया कि बिना परमिट पेड़ो को काटा गया है। बाग मालिक और ठेकेदार दोनों के विरुद्ध अभियोग पंजीकृत किया गया है। तथा क्षेत्रीय वन दरोगा की भी भूमिका की जाँच होगी कि बाग में कैसे कटान हो गया ।

हमारे प्रयास को अपना योगदान देकर और मजबूत करें

हमरी एंड्रॉइड ऐप मुफ्त में डाउनलोड करें

हमारे चैनल की मुफ्त में सदस्यता लें

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

निषाद पार्टी न्यूज़

न्यूज़ वीडियो

निषाद इतिहास