दलित छात्र दिलीप सरोज की हत्या योगी सरकार की विफलता का परिणाम

इलाहाबाद, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्ट, 13 फरवरी 2017। निर्बल इंडियन शोषित हमारा आम दल निषाद पार्टी के प्रदेश सचिव राम प्रसाद निषाद ने कहा है कि एडीसी के बी.ए.द्वितीय वर्ष के दलित छात्र दिलीप सरोज की हत्या सरे आम होना निश्चित रूप से योगी सरकार की विफलता का ही परिणाम है। इस तरह की घटना तभी संभव है, जब अपराधियों में प्रदेश की कानून व्यवस्था का तनिक भी भय न हो। भाजपा सरकार सिर्फ वादों की सरकार है। भाजपा सरकार के शासन में अपराधी बेखौफ हो गये हैं। वे जब चाहैं, जहां किसी की भी हत्या करदे रहे हैं। 
        प्रदेश सचिव ने कहा कि दलित छात्र की हत्या से सबसे बड़ा आघात उसके माता पिता को पहुॅचा है, जिन्होंने अपने मन में उस मृतक पुत्र से अपने लिए एक सपना पाल रखा था कि वह उनकी बुढापे की लाठी बनेगा। मगर भाजपा सरकार की लचर कानून व्यवस्था के चलते दिलीप अपने माता पिता व परिवार की बुढापे की लाठी नहीं बन सका। बेखौफ अपराधियों ने दिलीप को असमय ही काल के गाल में ढकेल दिया। यह बातें श्री निषाद ने अपने एक प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से कही। अपने प्रेस विज्ञप्ति में श्री निषाद ने कहा कि प्रदेश सरकार ने मृतक के परिजनों को 20 लाख रूपये मुआवजा देने की जो घोषणा की है वह नाकाफी है। उन्होंने प्रदेश सरकार से मांग की है कि वह मृतक के परिजनों को कम से कम 50 लाख रूपये मुआवजा तो दे ही, साथ ही उसके परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी भी दे। ताकि उसके परिवार का जीवन निर्वाह आसानी से हो सके। 
प्रदेश सचिव ने कहा कि इलाहाबाद में वैसे घटनाएं तो कई हो चुकी हैं और आगे भी हो सकती हैं। मगर दिलीप की हत्या की घटना जिस तरह से की गयी उस तरह की हत्या आज तक इलाहाबाद मे कभी नहीं हुई। उन्होंने पुलिस प्रशासन से मांग की है कि वह घटना मे शामिल सभी वास्तविक आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ ऐसी कठोर कार्रवाई करे कि वे दोबारा ऐसी हरकत करने के पहले घटना में शामिल अपराधियों के अलावा अन्य अपराधी भी सौ बार सोंचे। 
      प्रदेश सचिव ने जिले के सभी छात्रों से भी अपील की है कि वे सरकारी सम्पत्तियों को क्षति न पहुॅचायें। क्योंकि वह सरकारी सम्पत्ति किसी दूसरे की नहीं बल्कि वह अपनी ही है। वे सरकारी सम्पत्तियों को नुकसान पहॅचाने के बजाय पुलिस व प्रशासन को अपराधियों को पकड़वाने व उनके खिलाफ कार्रवाई कराने में उनका सहयोग करें। जब पुलिस कार्रवाई न करे तब वे आन्दोलन करें। प्रदेश सचिव ने कहा कि प्रदेश सरकार को कथनी के साथ-2 करनी करने पर भी विचार करना चाहिए। प्रदेश में यदि निर्दोष लोगों की इसी तरह हत्याएं होती रहेगी तो प्रदेश की जनता अगले वर्ष होने वाले लोक सभा के चुनाव में ही कुर्सी से उतार देगी और भाजपा का केन्द्र में दोबारा सरकार बनाने का सपना धरा का धरा रह जायेगा। इसलिए भाजपा सरकार अपराधियों को प्रश्रय देकर प्रदेश की जनता के धैर्य की परीक्षा न ले। क्योंकि जनता किसी भी पार्टी को कुर्सी पर बैठाना जानती है तो वह उसे नीचे भी उतारना जानती है। प्रदेश सचिव ने कहा कि निषाद पार्टी पीडि़त के परिजनों को न्याय दिलाकर ही चुप बैठेगी।

हमारे प्रयास को अपना योगदान देकर और मजबूत करें

हमरी एंड्रॉइड ऐप मुफ्त में डाउनलोड करें

हमारे चैनल की मुफ्त में सदस्यता लें

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

निषाद पार्टी न्यूज़

न्यूज़ वीडियो

निषाद इतिहास