चुनाव हारने के आभास से डर गई भाजपा गोरखपुर लोकसभा उपचुनाव में

गोरखपुर से एकलव्य मानव संदेश आगरा ब्यूरो चीफ बाबा बालक दास निषाद की रिपोर्ट, 27 फरवरी 2018। गोरखपुर में निषाद पार्टी, समाजवादी पार्टी, पीस पार्टी के गठबंधन और बसपा के रणनीतिक सहयोग से भाजपा बुरी तरह से डर गई है। पहले तो पार्टी एक ऐसी पार्टी जिसकी केंद्र और राज्य में सरकार हो वो अंतिम दिन अपना उम्मीदवार तय कर पाई और और अब उसके पास निषाद और यादव वोट की काट के लिए कोई नहीं मिलरहा है तो ऐसे लोग जिनका अब समाज में कोई जनाधार नहीं बचा है, उनको भाजपा में शामिल करके अपने कार्यकर्ताओं के मनोबल को बढ़ाने के लिये पार्टी में शामिल किया जा रहा है। अब रिजेक्टेड नेता भाजपा की कितनी नैया पार लगा पाते हैं ये तो वक्त ही बतायेगा। भाजपा को इन नेताओं को भी लालच देकर ही पार्टी में शामिल किया गया है ऐसा पूरे गोरखपुर में जगह जगह चर्चा भी जोरों पर है।
निषाद पार्टी के अध्यक्ष महामना डॉ संजय कुमार निषाद के पुत्र श्री प्रवीण निषाद के समाजवादी पार्टी का संयुक्त प्रत्यासी बनने पर समाज के कुछ प्रबुद्ध और बुद्धजीवि लोग हो हल्ला मचा रहे थे। बसपा के पूर्व प्रत्यासी जय प्रकाश निषाद जी का चुनाव के ऐने मौके पर बीजेपी में सामिल होने पर समाज के प्रबुद्ध लोग कुछ तो विश्लेषण करेंगे। लेकिन इतना तो तय हो चुका है कि बीजेपी बुरी तरह से गोरखपुर लोकसभा उपचुनाव हार है। क्योकि गोरखपुर उप चुनाव कोई नेता नहीं निषाद समाज का बच्चा लड़ रहा हैं। निषाद समाज प्रवीन कुमार निषाद को समाज का बेटा मान चुका हैं। चुनाव के ऐन मौके पर बीजेपी का तोड़फोड़ वाली राजनीति पूरा देश समझ चूका है। प्रवीण कुमार निषाद को भारी मतों से विजयी बनाने के लिये सभी दबे पिछड़े समाज का आशीर्वाद भी भरपूर मिल रहा है।
आज गोरखपुर में अति पिछड़ा समाज महा सभा उत्तर प्रदेश के तत्वावधान में शाहू कल्याण समिति की बैठक गोरखपुर में हुई, जिसमें संयुक्त उम्मीदवार इंजी. प्रवीण निषाद को भारी मतों से जितने का संकल्प लिया गया। इस मौके पर समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष रिटायर्ड चीफ इंजीनियर श्रीकांत गुप्त और निषाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ संजय कुमार निषाद सहित बड़ी संख्या में पदाधिकारी मौजूद थे।

हमारे प्रयास को अपना योगदान देकर और मजबूत करें

हमरी एंड्रॉइड ऐप मुफ्त में डाउनलोड करें

हमारे चैनल की मुफ्त में सदस्यता लें

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

निषाद पार्टी न्यूज़

न्यूज़ वीडियो

निषाद इतिहास