बीजेपी को हराने के लिए बसपा करेगी समाजवादी पार्टी को समर्थन-सूत्र

लखनऊ, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्ट, 22 फरवरी 2018। उत्तर प्रदेश की दो सबसे प्रतिष्ठित गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीटों पर 11 मार्च को उपचुनाव होगा। इस उपचुनाव में भाजपा की दोनों सीटें दांव पर लगी हैं। जिसमें से फूलपुर सीट पर उसने 2014 में पहली बार जीत दर्ज की थी। उपचुनाव में बसपा के चुनाव में नहीं उतरे से इस सीट पर भाजपा का दोबारा जीत पाना मुश्किल हो गया है। गोरखपुर भाजपा का गढ़ रहा है वो भी इस बार सुरक्षित नहीं है। गोरखपुर में योगी के विरोधी खेमे को भाजपा ने टिकट दिया है। यहां से सपा ने निषाद वोटरों को ध्यान में रखते हुए और यादव, मुस्लिम समीकरण के सहारे निषाद पार्टी के साथ गठबंधन किया है।
 गोरखपुर में सपा ने निषाद पार्टी के अध्यक्ष डॉ संजय कुमार निषाद के बेटे इंजीनियर प्रवीण निषाद को अपना उम्मीदवार बनाया है। बसपा के दोनों ही सीट पर चुनाव न लड़ने से बसपा का कैडर वोट सपा के खाते में जाता दिखाई दे रहा है। जिससे गोरखपुर में भाजपा की स्थिति सही नहीं है।
बसपा सुप्रीमो मायावती ने अपने नेताओं को निर्देश दिए हैं कि भाजपा को हारने के लिए समाजवादी पार्टी को अपना कैडर वोट दिलवाएं। जिससे दोनों ही सीटों पर भाजपा की हार सुनिश्चित हो सके। क्योंकि भाजपा सरकार में दलितों औऱ शोषितों पर अत्याचार बहुत ज्यादा बढ़ गए हैं।
ज्ञात सूत्रों से पता चला है कि उपचुनाव के बारे में बसपा सुप्रीमो मायावती का निर्देश आने पर आगे की रणनीति बनाई जायेगी। कांग्रेस को बसपा का साथ इन उपचुनावों में नहीं मिलने वाला है। बसपा का सबसे पहला उद्देश्य बीजेपी को हराना है। ऐसे में फूलपुर व गोरखपुर में बसपा के कैडर वोटर सपा का साथ देंगे।

हमारे प्रयास को अपना योगदान देकर और मजबूत करें

हमरी एंड्रॉइड ऐप मुफ्त में डाउनलोड करें

हमारे चैनल की मुफ्त में सदस्यता लें

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें

निषाद पार्टी न्यूज़

न्यूज़ वीडियो

निषाद इतिहास