गोरखपुर चुनाव में 70 से ज्यादा बूथों पर ईवीएम हुई खराब, कम हुआ मतदान

गोरखपुर, एकलव्य मानव संदेश के लिए जौनपुर ब्यूरो चीफ प्रदीप कुमार निषाद की रिपोर्ट, 11 मार्च 2018। आज गोरखपुर सदर लोकसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव में मतदान हुआ। गोरखपुर के शहरी क्षेत्रों में मतदाताओं में उत्साह नजर नहीं आया। कई मतदान स्थलों में सुबह 11 बजे तक सन्नाटा पसरा रहा। जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में मतदान शहरी क्षेत्रों की तुलना में अधिक हुआ है। दोपहर 1 बजे तक गोरखपुर में 30 प्रतिशत मतदान हुआ था।
निषाद बाहुल्य क्षेत्रों में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी इंजीनियर प्रवीण निषाद के लिए उत्साह देखा गया। निषाद समाज के लोग घरों से निकलकर समाजवादी पार्टी के बस्तों से पर्ची लेते देखे गए। निषाद समाज जो भाजपा का वोटर रहा है वो इस चुनाव में सपा के साथ खड़ा दिखाई दिया है।

गोरखपुर में करीब 4.5 लाख निषाद वोटर हैं। उपचुनाव में निषाद समाज के प्रत्याशी के मैदान में आने से समाज के वोटरों का रुझान प्रवीण निषाद की तरफ देखने को मिला है। यहां समाजवादी पार्टी का कोर वोटर करीब 2 लाख के आस पास है जो हर चुनाव में सपा को ही वोट करता आया है ऐसे में निषाद समाज के वोटरों का रुझान समजवादी पार्टी की ओर होने से साइकिल की रफ्तार तेज़ रही है। और ग्रामीण क्षेत्रों में समाजवादी पार्टी की साइकिल रफ्तार पकड़ती दिखाई दी।  शाम 5 बजे तक ये रफ्तार बरकरार रही। 
उत्तर प्रदेश की दो सबसे महत्वपूर्ण सीटों गोरखपुर और फूलपुर पर हो रहे उपचुनाव में वोटिंग सुबह 8 बजे से शुरू हो गयी थी। ये दोनों ही सीटें सीएम योगी आदित्यनाथ और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या के इस्तीफ़ा देने की वजह से खाली हुईं थीं। दोनों ही सीटों पर बसपा ने सपा को अपना समर्थन दिया है।
कई जगह ईवीएम खराब होने से मतदान रुका रहा। समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी और उनके चुनाव प्रतिनिधियों ने इसकी शिकायत भी की लिकिन अंत तक मशीन नहीं बदली गई। 

चुनावों में EVM भी अब जीत के लिए सबसे अहम हो गया है, गोरखपुर और फूलपुर में हो रहे मतदान में कई जगह धांधली की खबरें आने लगी है। सूत्रों के अनुसार गोरखपुर के कैम्पियरगंज विधानसभा के कल्याणपुर, अलीगढ और मेजुका सहित कई बूथों पर मतदान रुका रहा, यहाँ EVM में धांधली पाई गयी है जिसे वहां के स्थानीय लोगों ने पकड़ा है। समाजवादी युवजन सभा के नेता और कार्यकर्ता मौके पर पहुँच गए
 प्रदेश सचिव अभिषेक यादव ने बताया कि ऐसी खबरें कई बूथों से आ रही हैं और हमारी टीम हर बूथ पर पहुँचकर स्थिति का जायजा लेने के बाद प्रसाशन से निष्पक्ष मतदान कराने के लिए बात कर रहे हैं।
9 बजे तक गोरखपुर में 7 प्रतिशत और फूलपुर में मात्र 4.8 प्रतिशत मतदान, बीजेपी की चिंता बढ़ गईं।गोरखपुर, सदर संसदीय सीट पर हो रहे उपचुनाव के लिए मतदान लगातार जारी राह और दौरान 70 से ज्यादा बूथों पर ईवीएम मशीन के खराब होने की खबर आई हैं। ईवीएम खराब होने की घटना पर समाजवादी पार्टी की प्रवक्ता पंखुड़ी पाठक ने योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा है। उन्होंने बिना नाम लिए कहा कि, "जब साइकल तेज़ी से दौड़ रही है तो जगह-जगह ईवीएम बाबा का नाराज़ होना तो लाज़मी है। इस बार फ़र्ज़ी बाबा को बस ईवीएम बाबा का साथ है।
गोरखपुर लोकसभा उपचुनाव में कैंपियरगंज विधानसभा के बूथ संख्या 412, 97, 2, 186, 5, 115, 402, 386 पर ईवीएम ख़राब होने से मतदान बाधित हुआ। गोरखपुर ग्रामीण विधानसभा के बूथ संख्या 224, 324, 253, 320, 321, 360, 361, 317, 318, 352, 287 पर ईवीएम ख़राब होने से मतदान बाधित हुआ। सहजनवां विधानसभा के बूथ संख्या 24, 68, 76, 115, 270, 207, 344, 332, 334, 336, 337, 338, 404, 222, 238, 5, 387, 43, 76, 370, 260, 160, 167 272, 356, 386 पर ईवीएम ख़राब होने से मतदान बाधित हुआ। कैंपियरगंज विधानसभा के बूथ संख्या 2, 186, 5, 115, 402, 386 पर ईवीएम ख़राब, मतदान बाधित हुआ। गोरखपुर ग्रामीण विधानसभा के बूथ संख्या 324, 253, 320, 321, 360, 361, 317, 318, 352, 287 पर ईवीएम ख़राब, मतदान बाधित हुआ।
पिपराइच विधानसभा के बूथ संख्या 119, 24, 252, 323, 68 पर ईवीएम ख़राब, मतदान बाधित हुआ।ग्रामीण क्षेत्र के बूथ संख्या 287, नगर क्षेत्र बूथ संख्या 201, ख़राब, मतदान बाधित हुआ।
बड़ी संख्या में वोटिंग मशीन खराब होने की लगातार सूचना अधिकारियों को देते रहने के बाद भी मशीनों को नहीं बदला गया। इसको योगी आदित्यनाथ की सरकार द्वारा अधिकारियों पर दबाव बनाने की नीति के रूप में भी आरोप सपा द्वारा लगाये गए हैं।