श्रृंगवेरपुर धाम में बड़े धूम धाम से मनायी गयी महाराजा निषादराज गुह्य की जयंती

श्रृंगवेरपुर धाम, इलाहाबाद से एकलव्य मानव संदेश के लिए जौनपुर ब्यूरो चीफ प्रदीप कुमार निषाद की रिपोर्ट, 22मार्च 2018। डाॅ संजय कुमार निषाद का ( राष्ट्रीय अध्यक्ष-राष्ट्रीय निषाद एकता परिषद और निर्बल इडियंन शोषित हमारा आम दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष डाॅ संजय कुमार निषाद ने कहा कि महाराजा गुहराज निषाद के किले को एक बार फिर से जीवंत करना पूरे निषाद समाज का नैतिक कर्तव्य है। क्योंकि बिना श्रृंगवेरपुर के किले का निर्माण किये निषाद समाज की पहचान वापस नहीं लायी जा सकती। श्री निषाद आज यहां श्रृंगवेरपुर किले पर महाराजा गुह्य राज निषाद की जयंती के पावन अवसर पर आयोजित जन्मोत्सव समारोह को मुख्य अतिथि के रूप में अपना विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अब तक जो भी सरकारें आयीं, उनमें से किसी भी पार्टी की सरकार ने महराजा गुह्य राज निषाद के जर्जर किले की ओर ध्यान नहीं दिया। जिसकी वजह से त्रेता युग में पूरे भूमण्डल में अपना परचम लहराने वाला श्रृंगवेरपुर किला आज वीरान हो गया है। विभिन्न पार्टी की सरकारों की अनदेखी के चलते यह ऐतिहासिक किला आज अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है। उन्होंने कहा कि निर्बल इडियंन शोषित हमारा आम दल की सरकार बनने के बाद सबसे पहले इस ऐतिहासिक किले का जीर्णोद्वार किया जायेगा। जब तक इस ऐतिहासिक किले को उसका प्राचीन रूप प्राप्त नहीं करा दिया जाता तब निषाद समाज चैन से नहीं बैठेगा।
नव निवाचित सांसद इं0 प्रवीण कुमार निषाद ने कहा कि आप लोगों  ने जो अधिकार उन्हें दिया है उसका वह बखूबी निर्वहन करेंगे। उन्होने कहा कि अभी तक निषादों की समस्याओं को सदन में उठाने वाला कोई नहीं था। अब आपका भाई सदन में पहुॅच चुका है। अब निषादों की आवाज को कोई दबा नहीं सकेगा। उन्होंने कहा कि निषादराज के किले का जीर्णोद्वार शीघ्र ही किया जायेगा। 
फूलपुर के नवनिर्वाचित सांसद नागेन्द्र सिंह पटेल ने कहा कि श्रृगवेरपुर धाम के नव निर्माण में उनकी व  पार्टी की ओर से जो भी संभव होगा सहयोग किय जायेगा। उन्होंने कहा कि निषाद पार्टी, समाजवादी व बहुजन समाज पार्टी मिलकर एक इतिहास लिख सकते है। 
सपा के वरिष्ठ नेता सदन लाल निषाद ने राष्टीय निषाद एकता परिषद की सदस्यता ग्रहण करने का आश्वासन देते हुए कहा कि अब निषाद समाज को डाॅ संजय कुमार निषाद के रूप में एक योग्य एवं कुशल रहनुमा मिल गया है। इसलिए अब निषादों को सत्ता तक पहुॅचने में कोई रोक नहीं सकता है। उन्होंने कहा कि सत्ता प्राप्ति के लिए सपा बसपा व निषाद पार्टी का गठबन्धन निषाद समाज के लिए एक शुभ संकेत है। 
कार्यक्रम को मुख्य रूप से राष्ट्रीय निषाद एकता परिषद के राष्ट्रीय महा सचिव डॉ एमके तोमर, राष्टीय उपाध्यक्ष श्रीमती मालती निषाद, राष्टीय महासचिव निषाद रमेश केवट, राष्टीय सचिव रघुराई प्रसाद निषाद, राष्ट्रीय सचिव और एकलव्य मानव संदेश के संपादक डॉ जसवन्त सिंह निषाद, प्रदेश प्रभारी इंजी. श्रवण कुमार निषाद, प्रदेश अध्यक्ष रविन्द्र मणि निषाद, निषाद राज प्रांत के अध्यक्ष राम भारत निषाद, एकलव्य प्रांत के अध्यक्ष इंजी. देवेंद्र कश्यप, प्रदेश उपाध्यक्ष गिरिजा शंकर निषाद, महिला मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष कांती मझबार, प्रांतीय अध्यक्ष महिला मोर्चा श्रीमती गोबिन्दा निषाद,  सहित कई लोगो ने कार्यक्रम को संबोधित किया। 
कार्यक्रम में मुख्य रूप से राष्टीय निषाद एकता परिषद के प्रदेश महासचिव अशोक कुमार निषाद, ईं. हरिओम निषाद, मंडल अध्यक्ष डीएस बिन्द, रमेश चन्द्र निषाद करेलाबाग, खिरी चन्द्र निषाद, दुर्गादास निषाद, विधान सभा अध्यक्ष बारा राम टहल निषाद, सक्रिय कार्यकर्ता बनारसी लाल निषाद, लालजी निषाद, पूर्व
प्रधान जरखोरी चन्द्रभान निषाद, कामता प्रसाद निषाद, केशव प्रसाद निषाद, राम नरेश निषाद, भीम्मा प्रसाद निषाद, भारत निषाद, राम अभिलाष निषाद, भाई लाल निषाद, आमिका प्रसाद निषाद, डा. राम चरित्तर निषाद, हरिश्चन्द, रामवृक्ष, जितेन्द्र निषाद, रंजीत निषाद, इन्द्रजीत निषाद, जय सिंह निषाद प्रेमनारायण, आगरा के जिलाध्यक्ष कोमल सिंह निषाद, आगरा महिला मोर्चे जिलाध्यक्ष मनीषा निषाद, फ़िरोज़ाबाद से भूपेंद्र निषाद सहित भारी संख्या में निषाद समाज के कार्यकर्ता उपस्थित रहे।