फतेहपुर जनपद की खबरें राजबहादुर निषाद के द्वारा

फतेहपुर जनपद की खबरें एकलव्य मानव संदेश रिपोर्टर राजबहादुर निषाद के द्वारा, 24 मार्च 2018। *ग्राम प्रधानों की मनमानी, कम से कम लागत में शौचालय निर्माण, अधिकारियों की मिलीभगत से हो रहे मानक विहीन शौचालयों का निर्माण,

फतेहपुर, असोथर/परसेठा ग्राम की घटना-हर घर में मानक विहीन शौचालय निर्माण को लेकर जहां सरकार गम्भीरता दिखा रही हैं वहीं कुछ जिम्मेदार लोग शौचालय निर्माण में मात्र खानापूरी करते नजर आ रहे हैं। ऐसा ही एक मामला क्षेत्र की एक ग्राम पंचायत में सामने आया। यहां पर सिक्रेटरी और ग्राम प्रधान शौंचालय निर्माण का ठेका ही उठा दिया। ठेकेदार अपनी बचत को लेकर पीली ईंट और मोरंग के स्थान पर गंगा बालू का प्रयोग कर रहा है।

मामला असोथर विकास खंड के परसेठा ग्राम पंचायत का है। उच्चाधिकारियों द्वारा इस ग्राम पंचायत में 25 शौंचालय निर्माण का लक्ष्य दिया है। जिस पर सिक्रेटरी और ग्राम प्रधान ने शौचालय निर्माण का कार्य एक ठेकेदार को दे दिया। गुरुवार को जब इस गांव की पड़ताल की गई तो शौचालय निर्माण में घटिया ईंट और मोरंग के स्थान पर गंगा बालू का प्रयोग किया जा रहा था। इसके अलावा शासनादेश के तहत शौचालय निर्माण पर तय किए गए मानकों की धड़ल्ले से अनदेखी की जा रही है। जबकि शासन द्वारा एक शौचालय निर्माण की लागत 12 हजार रुपए तय की गई है जो लाभार्थी के खाते में दी जाती है।


*ट्रेन की चपेट में आने से किसान की दर्दनाक मौत


फ़तेहपुर/थरियाँव-जंगल गया एक युवक वापस गांव जाते समय रेलवे क्रासिंग पार करते गुरुवार को ट्रेन की चपेट में आ गया। हादसे में युवक की मौके पर ही मौत हो गई। जिससे परिजनों में कोहराम मचा रहा। थरियांव थाना क्षेत्र के हासिमपुर भेदपुर गांव निवासी लवकुश गांव में खेती किसानी करता था। परिजनों ने बताया कि गुरूवार सुबह वह रोज की तरह गांव से दूर जंगल की ओर गया था। कुछ देर बाद वापस घर की ओर लौट रहा था तभी गांव के पास रेलवे क्रासिंग पास करते समय एक ट्रेन की चपेट में आ गया। जिससे युवक के चीथड़े उड़ गए। हादसे की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और युवक की शिनाख्त कर परिजनों को जानकारी दी। जानकारी मिलते ही परिजन घटनास्थल पर पहुंचे, जहां लवकुश का शव देख परिजनों में कोहराम मच गया। बताया जा रहा है कि लवकुश की शादी तीन वर्ष पूर्व हुई थी।