निषाद पार्टी की नाव के सहारे सपा, बसपा, पीस पार्टी डुबायेंगे भाजपा का रथ गोरखपुर लोकसभा उपचुनाव में

गोरखपुर, एकलव्य मानव संदेश ब्यूरो रिपोर्ट के लिये राहुल कश्यप की रिपोर्ट, 5 मार्च 2018। गोरखपुर लोकसभा उपचुनाव 15% मनुवाद बनाम 85% मूलनिवासी की ऐतिहासिक लड़ाई की स्थिति में पहुंच गया है।
 अब गोरखपुर लोकसभा उपचुनाव में बच्चे-बच्चे की जुबान पर बस एक ही नारा बुलंद हो रहा है- भाजपा भगाओ, संयुक्त प्रत्यासी ईं. प्रवीन कुमार निषाद को चुनाव चिन्ह-साइकिल बाला बटन दबाकर भारी मतों से विजयी बनाओ।
 बसपा सुप्रीमो बहन मायावती के मास्टर स्ट्रोक ने निषाद पार्टी, समाजवादी पार्टी, पीस पार्टी के संयुक्त प्रत्याशी को समर्थन करने से इस उपचुनाव में भाजपा की नींद हराम कर दी है।  
गोरखपुर की संसदीय सीट से लगातार जीत दर्ज करने वाली भाजपा को हार का स्वाद चखाने के लिए सपा के समर्थन मे आयी बसपा ने रविवार को गोरखपुर संसदीय क्षेत्र के पदाधिकारियों, एवं कार्यकर्ताओ की एक आवश्यक बैठक कर मंगलम मैरेज लाज तारामंडल गोरखपुर में एक विशेष कार्यक्रम के दौरान निषाद पार्टी और पीस पार्टी समर्थित सपा के लोकसभा उप चुनाव सांसद उम्मीदवार इं. प्रवीण कुमार निषाद को अपना समर्थन देने का ऐलान किया। 
     बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्षा सुश्री मायावती के निर्देश पर जनपद गोरखपुर की बसपा जिला स्तरीय सभा 4 मार्च को जीत के मकसद से सपा, बसपा एवं निषाद पार्टी के नेता एवं पार्टी समर्थको के साथ सम्पन्न हुई। इस दौरान मुख्य अतिथि घनश्याम चंद खरवार ने अपने सम्बोधन मे कहा कि पांच दिन में साइकिल इतना चला दीजिए कि दिल्ली जाकर रुके। आगे उन्होने भाजपा पर तंज कसते हुए कहा कि अयोध्या आदि का मुद्दा केवल वोट के लिए उठाया जाता है। भाजपा 11 हजार करोड़ की आफिस बना सकती है तो क्या अयोध्या का राम मंदिर नही बना सकती। श्री खरवार ने सभी बसपा सिपाहियों से कहा आज से समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी प्रवीण निषाद के लिए अपने अपने सेक्टर और बूथों पर जाकर एक एक वोट को सहेजें और खुद भी साइकिल वाला बटन दबा कर लोगों द्वारा बटन दबवाकर बहुजन समाज के बेटे ईं. प्रवीण निषाद को भारी मतों से विजयी बनवाने का काम करें ।
      पूर्व विधायक जी एम सिंह ने कहा कि जिन लोगों ने रावण की तरह अहंकार किया है उसे यह समर्थन तोड़ने की काम करेगा। पूर्व सभापति उत्तर प्रदेश, गणेश शंकर पाण्डेय ने अपने सम्बोधन में चारों दलों की एकजुटता की महत्ता बताते हुए कहा कि सपा , बसपा एवं निषाद पार्टी का एकजुट होने से सपा उम्मीदवार ईं.प्रवीण निषाद की जीत पक्की है। चारों दलों का मिलकर समर्थन करने का यह ऐतिहासिक वक़्त है। जनता पर महँगाई की मार पड़ रही है।नौजवानो के ऊपर बेरोज़गारी की मार पड़ रही है।लेकिन भाजपा सरकार झूठे वादे के सिवा कुछ नहीं कर रही है। टूटी सड़कें, लचर कानून व्यवस्था एवं झूठे वायदे वाली इस सरकार से जनता का हाल बेहाल है।
     निषाद पार्टी के अध्यक्ष महामना डा.संजय कुमार निषाद ने अपने प्रत्याशी पुत्र प्रवीण निषाद के बारे मे बताते हुए कहा कि यह अब मेरा ही बेटा नहीं है,आज से समाजवादी पार्टी का बेटा है। वर्षों से जो दर्द समाज झेल रहा है अब वह दूर होने का समय आ गया है। माननीय अखिलेश यादव ने भरोसा जताया और जिसे बहन मायावती जी ने गोद लेकर अपना विश्वास जताया है उसे बेकार जाने नहीं दिया जायेगा। साइकिल एक लाठी के रुप में है। हम लोग असली दुश्मन से लड़ने जा रहे हैं। बहुजनो के सम्मान के लिए लड़ने जा रहे हैं। 
इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि कल्पनाथ बाबू , डा. संजय कुमार निषाद, सुरेश कुमार गौतम, विनय शंकर तिवारी, आफ़ताब आलम, सनी यादव एम एल सी, पूर्व विधायक भगवान दास, जी एम सिंह, राज कुमार, हरि प्रसाद निषाद, विनोद बेलदार, राजमन यादव, पूर्व मन्त्री ललई यादव, पूर्व एम एल सी राजेश यादव सहित सैकड़ो बसपा, सपा, निषाद और पीस पार्टी के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता मौजूद थे।