फेतहपुर जनपद की खबरें

फेतहपुर जनपद की खबरें एकलव्य मानव संदेश रिपोर्टर राम बहादुर निषाद के द्वारा, 26 मार्च, 2018। 
*1100 बोल्ट की चपेट में आकर प्राइवेट लाइनमैन झुलसा 

अमौली /फतेहपुर। अमौली विद्युत उपकेंद्र का लाइनमैन रिजवान पुत्र हलीम उम्र 28 वर्ष निवासी अमौली, प्राइवेट तौर पर लाइनमैन का काम करता है। शनिवार की प्रातः लाइनमैन मानेपुर सिट डाउन लेकर के गया और कुम्हारनपुर गांव में संजय के ट्यूबवेल में बिजली सुधारने का काम करने लगा, जो कि दपसौरा फीडर में है। अचानक से लाइट आने पर लाइनमैन को करंट लगा और बुरी तरह से झुलस कर नीचे गिर गया। तत्काल 108 नम्बर पर फोन करके एंबुलेंस को बुलाया गया। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अमौली में हालत गंभीर होने पर कानपुर के लिए रेफर कर दिया गया।


*अमर शहीद पत्रकार शिरोमणि गणेश शंकर विद्यार्थी की पुण्यतिथि के अवसर पर प्रेस क्लब बिंदकी, तहसील बिंदकी, पंजीकृत के तत्वाधान में गांधी चौराहे पर स्टाल लगाकर राहगीरों को ठंडा शरबत पिलाया गया। इसके पहले अमर शहीद पत्रकार शिरोमणि को श्रद्धांजलि देने के लिए प्रेस क्लब कार्यालय में गोष्टी  का आयोजन 25 मार्च 20108 को 10:00 बजे किया गया।


*बैंक मैनेजर पर किसानों से बदसलूकी करने का आरोप


फ़तेहपुर/किशनपुर, योगी राज में अधिकारियों पर कोई भी असर देखने को नहीं मिल रहा है। किशनपुर स्टेट बैंक ऑफ इंडिया पर किसानों का आरोप है कि कर्ज माफी की लिस्ट देखने जाने पर उन्हे बैंक कर्मियों द्वारा प्रताड़ित किया जाता है। आरोप है कि बैंक में किसानों के साथ आवांछनीय व्यवहार किया जाता है। लोगों को भगा दिया जाता है और धमकी दी जाती है कि जिससे चाहो शिकायत करो।
किसान बेचारे वैसे ही बिना लिस्ट में नाम देखे वापस लौट जातें हैं। किसानों का कहना है कि चाहे किसी भी काम से किशनपुर स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की शाखा में जाएं, वहां से यही जवाब मिलता है कि कल आईये, आज सर्वर नहीं है, जबकि मिली  जानकारी के अनुसार बैंक के अन्दर दलालों का जमावड़ा लगा रहता है। जिससे किसानों की समस्याओं को हल करने के लिए किसी के पास टाइम नहीं होता। किसानो की यही मांग है कि बैंक से दलालों का जमावड़ा खत्म होना चाहिए और किसानों को कर्ज़ माफी की लिस्ट हर बैंक के बाहर लगाई जाए, जिससे किसानो को कुछ राहत मिल सके l



*कर्ज माफी शिकायत लिस्ट आनलाइन फीड है और दूसरी कोई लिस्ट नहीं है। बैंक डाटा सिस्टम में सभी को दिखाया नहीं जा सकता है।
सर्वर की बात है आप बैंक में पता करें, सर्वर वीसेट है, लैंडलाइन है। यदि वीसेट है तो सर्वर की दिक्कत होती है।
  दलाली होती है तो कुछ साबूत लेकर RBO के लिए शाखा प्रबंधक के खिलाफ कार्रवाई करें।
भाजपा सरकार जनता और पिछड़े वर्ग के कर्मचारियो को लड़ाने का काम कर रही है।
  SBI सम्बन्धित जानकारी के अनुसार।