बिल संशोधन के नाम पर विद्युत कार्यालय में फैला हुआ है भ्रष्टाचार

कालपी, जालौन, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्टर सत्य प्रकाश निषाद की रिपोर्ट, 10 मार्च 2018। जालौन (उरई) जिले के बिजली विभाग के स्थानीय कार्यालय में बिल संशोधन के नाम जमकर भ्रष्टाचार फैला हुआ है जिससे विभाग को राजस्व का नुकसान हो रहा है, वहीं अधिकारी मालामाल हो रहे हैं। 
कार्यालय में फैले भ्रष्टाचार की जांच कराने की मांग जिलाधिकारी तथा प्रबन्ध निदेशक दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगम से की है। 
उपखण्ड अधिकारी कार्यालय में बिजली बिल संशोधन का खेल चल रहा है। स्थानीय कार्यालय में कार्यरत कर्मचारियों व अधिकारियों की सांठगांठ से बिल संशोधन का खेल किया जा रहा है। जिन अधिकारियों के कंधों पर विभाग को राजस्व बढ़ाने का दायित्व वे ही अधिकारी विभाग को चूना लगाने में लगे हुए हैं। अपनी जेब भरने के लिए विभाग को नुकसान पहुंचाया जा रहा है। इलाके की आम जनता ने जिलाधिकारी तथा दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगम के प्रबंध निदेशक आगरा से मांग की है कि जनवरी व फरवरी माह में कार्यालय से हुए बिल संशोधनों की  जांच करायी जाए, जिससे कार्यालय का भ्रष्टाचार उजागर हो जाएगा तथा भ्रष्टाचार करने वाले भी बेनकाब हों।
नगर कालपी कदौरा के प्रबुद्ध लोगों ने अधिकारियों से मांग की है कि जांच में दोषी पाए जाने वाले बिजली विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए, जिससे बिल संशोधन के नाम पर चल रहा भ्रष्टाचार कम हो सके। जब इस संदर्भ प्रबंध निदेशक आगरा से बात की गई तो उन्होंने कहा कि वह अपने स्तर से जांच करायेंगें और अगर दोषी हुए तो कार्रवाई होगी।