एक सप्ताह पूर्व हत्या कर पेड पर लटका देनके की रिपोर्ट के लिए एस.पी को दिया ज्ञापन

झाँसी, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्टर हरनारायण रायकवार की  रिपोर्ट, 6 मार्च 2018। 

झांसी में 27.02.2018 को पेड़ पर फांसी लगाकर मारे गये मुकेश रायकवार के भाई हरप्रसाद रायकवार पुत्र भोला राम, निवासी खेरा, पो० गरियगाँव, थाना-प्रेमनगर नगरा झांसी ने आज पूरे परिवार सहित रिपोर्ट दर्ज न होने के सम्बन्ध एस. एस.पी. को ज्ञापन दिया। घटना की  पूरी जानकारी के साथ एस.एस.पी. को बताया कि मेरा भाई
कोतवाली थाना अन्तर्गत वंसल कॉलोनी मैं खुसाल जैन व निर्मला जैन के यहॉ लगभग 20 वर्षों  से काम करता था। प्रतिदिन की भांति दिनाँक 26/02/2018 को मुकेश सुबह घर से बंगले पर काम के लिये निकला, परन्तु देर शाम तक घर नहीं आया, तो मैने मुकेश के नंबर फोन लगाया लेकिन उसने फोन नहीं उठाया। हमने सोचा कि मुकेश काम कर रहा होगा। परन्तु जब उसका 27/02/2018 को सुबह तक कोई पता न चला तो, मेरे पिता भोला राम जी, मुकेश की जानकारी के लिये बंगले पर पहुँचे तो, गेट पर गार्ड ने रोककर मुकेश की साइकिल बताई कि वह गेट पर रखी है।
 जब भोला राम ने बड़े गेट पर पहुँच कर देखा कि खुसाल जैन के बंगले में लगे आम के पेड़ के नीचे खड़े होकर खुशाल जैन चिल्लाये और किसी व्यक्ति से बोले कि कसकर बाँध। इस पर निर्मला जैन ने भी कहा जल्दी करो कोई आ जायेगा। मेरे पिता जी ने देखा की उन लोगो ने मुकेश को फांसी पर लटका दिया।  और गेट भी नहीं खोला। मैं हरप्रसाद भाभी के पस आये फोन के मुताबिक घटना स्थल पर पहुँचे। वहाँ देखा की  खुसाल जैन अन्दर चला गया और दूसरा व्यक्ति दीवार को फाँदकर भाग गया। जब बहुत देर तक गेट नहीं खोला तो मैनें दीवार फॉदकर गेट खोला। वहाँ पर बहुत भीड जमा हो गई थी। कुछ देर बाद पुलिस भी मौके पर पहुँच गयी और जल्दी से शव को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया और कहा आगे कि कार्यवाही मेडीकल में ही होगी। मेरे पिता ने घटना के दिन भी थाने में तहरीर दी, लेकिन दरोगा ने वापस कर दी और जब हम मैडीकल पहुँचे तो वहां पर पुलिस ने पंचनामा भरवाकर जबरदस्ती हस्ताक्षर करवा लिये। और कहा रिपोर्ट दर्ज कि जा रही है। लेकिन इतने दिन बीतने के बाद भी रिपोर्ट दर्ज नहीं हुई है। इसके बाद वरिष्ठ पुलिस अधिक्षक ने न्याय का  आश्वासन दिया।