औरया न्यूज़ स्पेशल रिपोर्ट महेंद्र वर्मा की रिपोर्ट

औरया, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्टर महेंद्र वर्मा की रिपार्ट, 24 मार्च 2018। *भ्रष्ट बीएसए का स्टेनो 20 हजार की रिश्वत लेते एंटीकरप्शन टीम ने रं hगे हाथ दबोचा*, *BSA बाउंड्री से कूदकर भागे, सह अभियुक्त बनाने की तैयारी*
"""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""
★ भ्रष्ट जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी शिवप्रसाद यादव को धन,गाड़ी,घर,नैतिक अनैतिक कृत्यों की सभी शौहरत सुविधाएँ उपलब्ध कराने वाले उनके स्टेनो- विनीत कुमार को लखनऊ से आई एंटी करप्शन टीम ने 20 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ दबोचा।
BSA शिवप्रसाद यादव ने दो निलम्बित अध्यापकों से उनकी बहाली करने के नाम पर 20 हजार की रिश्वत मांगी थी। *जिसकी शिकायत पीड़ित शिक्षक ओमजी पोरवाल ने यूनाइटेड टीचर्स एसोसिएशन (यूटा) के प्रदेश अध्यक्ष राजेन्द्र सिंह राठौर से की, प्रदेश अध्यक्ष राजेन्द्र सिंह राठौर की प्रेरणा से यूटा के जिलाध्यक्ष ओमजी पोरवाल(पीड़ित शिक्षक) ने लखनऊ में बेसिक शिक्षा मंत्री सहित  शासन और विजिलेंस व एंटी करप्शन के उच्चाधिकारियों से की*।शिकायत की जांच के बाद एंटी करप्शन लखनऊ मुख्यालय से टीम गठित कर BSA और उसके कारखास बाबू  विनीत कुमार स्टेनो को रंगे हाथ गिरफ्तार करने की योजना तैयार की।
तयशुदा कार्यक्रम के अनुसार पीड़ित शिक्षक ओमजी पोरवाल अपने दूसरे साथी शिक्षक देवेन्द्र प्रताप सिंह के साथ पहले से ही पाउडर लगे 20 हजार रुपए के नोट लेकर  BSA कार्यालय पहुंचे, BSA ने अपने स्टेनो को पैसे देने के लिये कह रखा था। जैसे ही निलम्बित शिक्षक ने 20 हजार के नोट स्टेनो विनीत कुमार को दिए, तत्काल ही कार्यालय के आस पास पहले से सिविल ड्रेस में घात लगाए बैठे एंटी करप्शन टीम के लोगों ने स्टेनो विनीत कुमार को रिश्वत के रुपयों के साथ रंगे हाथ दबोच लिया।
-----------------------------------------------
★  जैसे ही एंटी करप्शन टीम ने भ्रष्ट बाबू विनीत कुमार को रिश्वत के नोटों के साथ दबोचा, तभी टीम के एक सदस्य ने कहा BSA भी बैठे हैं, ये बात उनके अर्दली ने सुन ली फिर क्या फिर तो BSA शिवप्रसाद यादव और उनके पीछे पीछे उनका अर्दली बाउंड्री से कूदकर पैदल ही भाग लिये।
----------------------------------------
★ पीड़ित शिक्षक 1 साल से चल रहे थे निलम्बित,जांच रिपोर्ट के बाद में 6 महीने से नहीं किया जा रहा था बहाल*
पीड़ित शिक्षक ओमजी पोरवाल और देवेन्द्र प्रताप सिंह को करीब 13 माह पहले गलत आरोपों में निलम्बित कर दिया था। विभागीय जांच में उक्त दोनों अध्यापकों को पूर्णतः निर्दोष साबित कर जांच रिपोर्ट अक्टूबर माह में जमा कर दी गयी थी, लेकिन 6 माह बीत जाने के बावजूद भी अभी तक उनकी बहाली नहीं गयी। बीएसए द्वारा स्पष्ट कहा जा रहा था जब तक पैसे नहीं तब तक बहाली नहीं।
...........................................
★भ्रष्ट स्टेनो विनीत कुमार हर बीएसए की सुख सुविधाओं का इतना ख्याल रखता है कि वह उनका खास बनकर सभी प्रकार के कार्यों का ठेका लेता था, वर्तमान बीएसए के कारखास के रूप में पहचान रखने वाले बाबू का विभाग में BSA से अधिक जलवा रहता था, यहाँ तक कि खंड शिक्षा अधिकारी भी इस भ्रष्ट बाबू के पैर छूते नजर आते हैं।
---------------------------------------------
★ बीएसए शिवप्रसाद यादव और उसके स्टेनो विनीत कुमार पर कई जनपदों में अथाह अचल संपत्ति की भी शिकायत एंटीकरप्शन में की गई है, जिसे लेकर टीम उनकी प्रोपर्टी के कागजात खंगाल कर उनके विरुद्ध आय से अधिक संपत्ति की भी जांच करने की योजना में है।
----------------------------------------------
★ प्रदेश भर में भ्रष्टाचार के विरुद्ध संघर्षशील शिक्षक संगठन- यूनाइटेड टीचर्स एसोसिएशन [यूटा] की प्रेरणा से अब तक 76 भ्रष्ट अधिकारियों/कर्मचारियों को विजीलेंस और एंटी करप्शन के माध्यम से जेल भिजवाया जा चुका है। जिनमें से अधिकाशतः बेसिक शिक्षा विभाग से ही हैं। *यूटा के प्रदेश अध्यक्ष-राजेन्द्र सिंह राठौर* ने कहा कि प्रदेश में सबसे अधिक भ्रष्टाचार बेसिक शिक्षा विभाग में ही है यहाँ सेवानिवृत्त शिक्षकों से जी पी एफ भुगतान के नाम पर 50 से 80 हजार,सीसीएल के नाम पर 5 हजार रुपया महीना,एरियर भुगतान के नाम पर 10% कमीशन,बहाली के लिये 20 से 50 हजार,मेडिकल स्वीकृति के लिए 5 से 7 हजार रुपया महीना,स्कूल मान्यता के लिये 1 से 2 लाख,प्रमाणपत्र सत्यापन के उपरांत वेतन लगाने के आदेश के लिये 10 से 15 हजार रुपये खुलेआम बसूली की जाती है। बेसिक शिक्षा प्रदेश का एकमात्र विभाग ऐसा है जिसमें महिला शिक्षिकाओं से मेटरनिटी लीव(मातृत्व अवकाश) स्वीकृति के लिये भी रिश्वत बसूली जाती है। यूटा के प्रदेश अध्यक्ष राजेन्द्र सिंह राठौर एंव मंडल संयोजक(कानपुर मंडल)-नीरज राजपूत ने चेतावनी दी है कि यदि अधिकारियों और कर्मचारियों ने भ्रष्टाचार पूर्णतः बन्द नहीं किया तो यूटा उनको जेल भिजवाने का क्रम जारी रखेगा। यूटा कार्यशाला का आयोजन कर भ्रष्टाचार से लड़ने के लिये शिक्षकों को जाग्रत और प्रेरित करेगा।
-----------------------------------------------
★ भ्रष्ट स्टेनो विनीत कुमार को थाना दिबियापुर की हवालात में किया बन्द,बीएसए सहित सभी बाबू ऑफिस से फरार,थाने पर यूटा के पदाधिकारियों सहित सैकड़ों शिक्षक जमा। BSA की भी गिरफ्तारी की मांग को लेकर शिक्षकों ने की नारेबाजी। थाना परिसर में जय यूटा जय शिक्षक की गूँज।