फतेहपुर जनपद की 27 अप्रैल की खबरें राम बहादुर निषाद की कलम से

*आग से झुलसी युवती ने तोड़ा दम, किशोरी की हालत गंभीर  
फतेहपुर जनपद के अलग-अलग थानाक्षेत्रों के अंतर्गत किशोरी समेत तीन लोग आग की चपेट मे आकर गंभीर रूप से झुलस गये, जिन्हें उपचार के लिए जिला चिकित्सालय मे भर्ती कराया गया, जहां किशोरी की हालत गंभीर बनी हुयी है। 
जानकारी के अनुसार मलवां थानाक्षेत्र के अमौरा गांव निवासी बाबूराम की 13 वर्षीय पुत्री दीपिका देर शाम चूल्हे मे खाना बना रही थी तभी अचानक कपड़ों में आग लग जाने से गंभीर रूप से झुलस गयी। इसी क्रम में खागा कोतवाली क्षेत्र के मानू का पुरवा गांव निवासी ओम प्रकाश शुक्ला का पुत्र संदीप कुमार शुक्ला व उसकी पत्नी सपना पांच दिन पूर्व आग की चपेट मे आकर गंभीर रूप से झुलस गये थे। दोनेां को कानपुर के लिए रैफर कर दिया गया था। उधर जाफरगंज थानाक्षेत्र के ग्राम तहबालपुर गांव निवासी रामविजियन संदिग्ध परिस्थितियों में आग की चपेट में आ जाने से गंभीर रूप से झुलस गया था। सूचना पर पहुंची सरकारी एम्बुलेंस ने झुलसे लोगों को उपचार के लिए जिला चिकित्सालय मे भर्ती कराया। जहां दीपिका की हालत नाजुक बनी है, जबकि कानपुर में जिन्दगी और मौत के बीच झूल रही सपना ने दम तोड़ दिया। परिजन शव को लेकर गांव चले आये और पुलिस को सूचना दे दी, जिस पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर विच्छेदन गृह भेज दिया।


*मार्ग दुर्घटना में महिला समेत पांच घायल 
अलग-अलग थानाक्षेत्रों के अंतर्गत बीते चैबिस घंटों के अंतराल में हुए सड़क हादसों के दौरान महिला समेत पांच लोग घायल हो गये। जिन्हें उपचार के लिए सदर अस्पताल मे भर्ती कराया गया। जहां एक की हालत गंभीर देखते हुए कानपुर के लिए रिफर कर दिया।
         जानकारी के अनुसार असोथर थानाक्षेत्र के सुसुवन गांव निवासी रामनाथ का 50 वर्षीय पुत्र रमेश व चंदी का 60 वर्षीय पुत्र रामगोविंद बाइक द्वारा शहर किसी काम से आ रहे थे जैसे ही यह लोग सदर कोतवाली के पीएसी के समीप पहुंचे तभी सामने से आ रहे टैम्पों ने टक्कर मार दी, जिससे दोनों घायल हो गये। 
    लखनऊ महानगर के सरोजनी नगर थाना बंथरा निवासी कृष्ण पाल सिंह की 42 वर्षीय पत्नी अंजली सिंह फतेहपुर जनपद रिश्तेदारी में आयी थी, वापस लौटते समय सड़क हादसे में घायल हो गयी। 
     उधर हुसैनगंज थानाक्षेत्र के जलालपुर, इटैली गांव निवासी कुन्ना का 38 वर्षीय पुत्र राधेलाल मार्ग दुर्घटना में घायल हो गया।
      सुल्तानपुर घोष थानाक्षेत्र के ग्राम रसूलपुर निवासी बडकू का 27 वर्षीय पुत्र ब्रजेश बाइक द्वारा खागा आ रहा था तभी अज्ञात वाहन की चपेट में आ जाने से घायल हो गया। 
     सूचना पाकर मौके पर पहुंची 108 नम्बर एम्बुलेंस ने सभी घायलों को आनन फानन में उपचार के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया। जहां इमरजेंसी में तैनात चिकित्सक ने रमेश की हालत चिंताजनक देखते हुए कानपुर मेडिकल कालेज के लिए रैफर कर दिया।

*युवक ने किया जान देने का प्रयास
फतेहपुर कल्यानपुर थानाक्षेत्र के ग्राम रतनखेड़ा में पत्नी से लड़ने के बाद एक लगभग 25 वर्षीय युवक ने जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया। जिसे उपचार के लिए जिला चिकित्सालय लाया गया, जहां उसकी हालत चिंताजनक देखते हुए चिकित्सक ने कानपुर के लिए रैफर कर दिया। जानकारी के अनुसार रतनखेड़ा गांव निवासी जगपाल का पुत्र पवन की अपनी पत्नी से किसी बात को लेकर कहा सुनी हो गयी। जिससे क्षुब्ध होकर उसने जहरीला पदार्थ खा लिया। कुछ समय बाद जब उसे उल्टियां होने लगी तो परिजनो ने उसे आनन फानन में 108 नम्बर एम्बुलेंस द्वारा उपचार के लिए जिला चिकित्सालय मे भर्ती कराया। जहां इमरजेंसी मे तैनात चिकित्सक ने पवन की हालत गंभीर देखते हुए कानपुर मेडिकल कालेज के लिए रैफर कर दिया।


*ट्रेनिंग मे जा रही आशा बहू को ट्रक ने रौंदा, मौत
सीएमओ ने मृतका की पुत्री को आशा बहू की नौकरी दिलाने का दिया आश्वासन
खागा कस्बा चैक चैराहे पर गुरूवार की सुबह हरदों अस्पताल ट्रेनिंग के लिए जा रही लगभग 50 वर्षीय आशा बहू को विपरीत दिशा से आ रहे ट्रक ने रौंद दिया, जिसे गम्भीर अवस्था में उपचार के लिए सदर अस्तपाल लाया गया, जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना देने के बावजूद भी एक घंटे तक पुलिस मौके पर नहीं पहुंची। 
जिला चिकित्सालय मर्चरी हाउस में पहुंची एक सैकड़ा आशा बहुओं ने मुआवजे को लेकर शव को नही उठने दिया। मुख्य चिकित्साधिकारी ने पहुंचकर मृतका की पुत्री को आशा बहू की नौकरी दिलाने का आश्वासन दिया, उसके बावजूद भी आशा बहुएं मौके पर डीएम को बुलाने की मांग करती रहीं। सूचना पर अपर पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार सिंह, क्षेत्राधिकारी सदर कपिल देव मिश्रा सहित भारी पुलिस बल जिला चिकित्सालय मरचरी पहुंच गया और हंगामा काट रही आशा बहुओ को आश्वसन दिया। तब कहीं जाकर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर विच्छेदन हेतु भेजा। जानकारी के अनुसार खागा कोतवाली के ग्राम निहालपुर सहानी निवासी सोनेलाल की पत्नी शकुन्तला देवी जो आशा बहू के पद पर तैनात थी। हरदों सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में पांच दिन की ट्रेनिंग चल रही है जिसमें प्रतिदिन सभी आशा बहुयें ट्रेनिंग में जाती हैं। बताया जा रहा है कि शुक्रवार की शकुंतला देवी सुबह लगभग 9 बजे अपनी सहयोगी आशा बहू पूनम यादव के साथ पैदल हरदों अस्पताल की ओर जा रही थी जैसे ही वह चैक चैराहे पर पहुंची तभी विपरीत दिशा से आ रहे ट्रक ने उसे रौंद दिया। घटना के बाद चालक मौके से भाग खड़ा हुआ। साथ में जा रही आशा बहू पूनम यादव ने तत्काल पीआरवी 100 नम्बर डायल कर दिया, लेकिन एक घंटे तक पुलिस मौके पर नही पहुंची। इस बीच शकुन्तला सड़क पर पड़ी तड़पती रही। तभी वहां मौजूद लोगों ने डीसीएम रूकवाकर गंभीर अवस्था में महिला को जिला चिकित्सालय के लिए भेजा। यहां इमरजेंसी में तैनात चिकित्सक ने आशा बहू को मृत घोषित कर दिया। वहीं साथी की मौत की खबर जैसे ही आशा बहुओं को लगी तो लगभग एक सैकड़ा आशा बहू सदर अस्पताल के मर्चरी हाउस पहुंच गयीं। दोपहर बाद जब पुलिस पंचनामे के लिए पहुंची तो आशा बहुओं ने शव को उठाने से इंकार कर दिया और मौके पर आला अधिकारियों को बुलाने तथा मुआवजे की मांग करने लगीं। सूचना पर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 वीके पाण्डेय मर्चरी हाउस पहुंचे और आशा बहुओं को आश्वासन दिया कि मृतका की एक पुत्री को आशा बहू की नौकरी दी जायेगी। उसके बावजूद भी आशा बहुयें जिलाधिकारी को मौके पर बुलवाने तथा मुआवजे की मांग को लेकर अड़ी रहीं। मौके की नजाकत को देख महिला पुलिस समेत, पुलिस बल सदर अस्पताल मर्चरी पहुंच गया। आश्वासन के बाद पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर विच्छेदन गृह भेज दिया।


*शहीद बाबा के स्मारक को भूमाफियाओं ने जेसीबी से तोड़ा 
फतेहपुर जिले के थरियांव थाने के सुधवा गांव में शहीद की स्मारक तोड़ने पर तनाव फैल गया, जिसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंच हालात पर काबू पाया।  स्थानियों की माने तो आजादी के पहले लड़ाई में शहीद होने की वजह से इनकी स्मारक को शहीद बाबा के नाम से आसपास से क्षेत्र में जाना जाता था और गांव के ही दबंग ने स्मारक वाली जगह पर कब्जा जमाने के मकसद से जेसीबी से स्मारक को उखाड़ फेंक दिया और स्मारक के रुप में चबूतरा बना था उसे भी नष्ट कर दिया, ग्रामीणों ने पुलिस से मामले की शिकायत की तो पुलिस ने भी कोई सुनवाई नहीं की। आज दबंग इसी जमीन पर मकान बनवाने जा रहा था तभी गांव के काफी लोग इकट्ठा हो गए और इसका विरोध करते हुए पुलिस को मामले की सूचना दी। पुलिस ने मौके पर पहुंच हालत पर काबू पाया। एसपी राहुल राज ने इस मामले में जांच कराकर कार्रवाई की बात कही है।