गंगा में डूबीं चार महिलाएं, एक की मौत

फतेहपुर, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्टर रामबहादुर निषाद की रिपोर्ट, 27 अप्रैल 2018। फतेहपुर जंप5 के हथगाम क्षेत्र में शादी समारोह में शामिल होने गईं चार महिलाएं गुरुवार सुबह गंगा नदी में नहाते समय डूब गईं। स्थानीय लोगों की मदद से तीन महिलाओं को सुरक्षित बचा लिया गया। लापता महिला की तलाश कर रहे गोताखोरों ने दो घण्टे बाद उसका शव बरामद किया। घटना से शादी वाले घर में हड़कम्प मचा रहा। 
         हथगाम थाना क्षेत्र के हरी का पुरवा मजरे रिकौहां गांव के रामभवन लोधी के पुत्र का बुधवार शाम तिलक था। गुरुवार को उसकी बारात फतेहपुर शहर जानी है। शादी वाले घर में नाते रिश्तेदार आये हुए थे। सुबह महिलाओं ने गंगा नदी में स्नान करने की तैयारी की। मलवा थाने के लालपुर निवासी सरवन की पत्नी आशा देवी, लालता देवी पत्नी सतेंद्र निवासी लालपुर,  अनीता पत्नी आशाराम निवासी सनगांव मजरे बहरामपुर, राजनदेवी पत्नी शिवलाल निवासी जौहरी मजरे जमालपुर जिला बाँदा, समेत करीब डेढ़ दर्जन महिलाएं बच्चे गंगा नदी में नहाने गये थे। इस स्थान में कोई घाट नहीं है, लेकिन महिलाये गहराई में जाकर नहाने लगीं।
     नहाते समय आशा देवी, गहराई में चली गई और डूबने लगी। उसे डूबता देख अनिता, राजनदेवी और लालता उसे बचाने के लिए गई और वह भी डूबने लगी। उन्हें डूबते हुए देख साथ गईं महिलाये और बच्चे शोर मचाने लगे। तभी किसी काम से से गंगा किनारे गया धुन्नी निवासी रसूलपुर ने नदी में छलांग लगते हुए अनिता, राजन और लालता देवी को बचा लिया। लेकिन तब तक आशा देवी डूब गई। यह देख अन्य ग्रामीणों में शोर हो गया और रामभवन के घर में हड़कम्प मच गया। बड़ी संख्या में ग्रामीण और पुलिस फोर्स मौके पर पहुंची और किसी तरह तीन महिलाओं को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया।