डी.सी.एम सडक किनारे पानी भरे गढ्डे में पलटी, एक बालक की नीचे दबने से दर्दनाक मौत

भरथना, इटावा, एकलव्य मानव संदेश रिपोर्टर संजीव कुमार की रिपोर्ट, 19 अप्रैल 2018। इटावा-कन्नौज हाईवे पर दौडती डी.सी.एम का स्टेरिंग फेल हो जाने से सडक किनारे पानी भरे गढ्डे में पलट गई। जिससे उसमें सवार एक बालक की करीब ढाई घण्टे तक नीचे दबे रहने से मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई और उसके माता-पिता व छोटी बहिन व दो अन्य युवक समेत आधा दर्जन गम्भीर रूप से घायल हो गये। चालक-परिचालक इस हादसे के बाद मौके से भाग गये।
आसपास खेतों में काम कर रहे किसानों व पुलिस ने मौके पर पहुंच सभी घायलों को इलाज हेतु चिकित्सालय भिजवाया। और डी.सी.एम को क्रेन की मदद से उठा कर नीचे दबे बालक के शव को निकाल पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। घटना की सूचना मिलने पर आसपास के ग्रामीण व राहगीरों का हुजूम उमड पडा।
 हाईवे स्थित ग्राम हथनौली के निकट तेज रफ्तार इटावा की ओर दौडी जा रही उक्त डी.सी.एम बुधवार की सुबह 6 बजे उस समय दुर्घटनाग्रस्त होकर सडक किनारे पलट गई। डीसीएम की स्टेरिंग फेल हो गई थी। डीसीएम में थाना भरथना क्षेत्र के ग्राम कटहरा निवासी मजदूर मुकेश 32 पुत्र जौहरी, लक्ष्मी देवी 28 पत्नी मुकेश, कन्हैया 13 व कु0 राधा 8 सहित भरथना महावीर नगर के कुलदीप 20 पुत्र जयकिशोर, सुमित गुप्ता 17 पुत्र रामौतार सवार हुए थे। जोकि ग्राम पत्तापुरा (सिंहुआ) में मजदूरी कर नई मजदूरी के लिए फिरोजाबाद जा रहे थे। 
 डीसीएम पलटते ही तेज आवाज के साथ मजदूरों की चीख पुकार सुन आसपास खेतों में गेहूं की कटाई कर रहे कृषक व राहगीर डीसीएम में दबे मजदूरों को निकालने में जुट गये। घटना की सूचना पर पुलिस क्षेत्राधिकारी विकास जायसवाल, तहसीलदार गजराज सिंह यादव, कोतवाल इन्द्रजीत सरोज, उपनिरीक्षक गंगादास गौतम भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गये और घायलों को इलाज हेतु जिला चिकित्सालय भेजा। वहीं घटना के करीब ढाई घण्टे बाद मौके पर पहुंची जेसीबी व क्रेन मशीन के पहुंचने पर डीसीएम में दबे कन्हैया (13) पुत्र मुकेश के शव को निकाल पोस्टमार्टम को भिजवाया गया।